50+ Amazing Facts About Assam In Hindi

Facts About Assam: असम पूर्वोत्तर भारत का एक राज्य है जो अपने वन्य जीवन, पुरातत्व स्थलों और चाय बागानों के लिए जाना जाता है। पश्चिम में, असम के सबसे बड़े शहर गुवाहाटी में रेशम के बाज़ार और पहाड़ी की चोटी पर कामाख्या मंदिर है। उमानंद मंदिर ब्रह्मपुत्र नदी में मयूर द्वीप पर स्थित है। राज्य की राजधानी, दिसपुर, गुवाहाटी का एक उपनगर है। हाजो और मदन कामदेव का प्राचीन तीर्थ स्थल, एक मंदिर परिसर के खंडहर, पास में स्थित हैं।

50+ Amazing Facts About Assam In Hindi

Interesting Facts About Assam - असम राज्य से जुड़े महत्वपूर्ण तथ्य

  • असम संसार का सबसे बड़ा मोगा रेशम उत्पादक प्रदेश है।
  • असम प्रदेश को प्राचीन भारतीय ग्रंथों में प्रागज्योतिषपुर के नाम से जाना जाता था।
  • असम कच्चे तेल का उत्पादक है और यह भारत के कच्चे तेल के उत्पादन का लगभग 15% हिस्सा है।
  • असम की अर्थव्यवस्था कृषि और तेल पर आधारित है। असम भारत की आधी से अधिक चाय का उत्पादन करता है।
  • राज्य की राजधानी शिलांग मेघालय राज में चली गई थी जिसके बाद दिसपुर को असम की राजधानी बनाया गया।
  • असम में मध्ययुगीन राजाओं के आख्यानों का एक सामान्य विषय शक्तिस्म और कामाख्या मंदिर से जुड़ा है।
  • भारत का सबसे बड़ा प्राकृतिक चिड़ियाघर “असम राज्य चिड़ियाघर” है, जो 432 एकड़ भूमि में फैला हुआ है।
  • जटिंगा गांव पक्षियों की रहस्यमयी आत्महत्याओं के लिए प्रसिद्ध है, जो कि डिमा हासाओ ज़िला में स्थित है।
  • असम के काजीरंगा और मानस नैशनल पार्क एक सींग वाले गेंडे और हाथियों के कारण पूरी दुनिया में प्रसिद्ध है।
  • असम में ब्रह्मपुत्र नदी बहने के कारण यहाँ की जलवायु ठंडी होती है और यहाँ पर अधिकांश महीने बारिश होती है।
  • असम राज्य चावल, रेपसीड, सरसों, जूट, आलू, शकरकंद, केला, पपीता, सुपारी, गन्ना और हल्दी का उत्पादन करता है।
  • महाभारत काल से लेकर सातवीं सदी के मध्य में भास्करवर्मन के शासनकाल तक यहाँ पर एक ही राजवंश का शासन रहा था।
  • असम का इतिहास बहुत प्राचीन है, असम को प्राचीन काल में प्राग्ज्योतिषपुर (जा पराग ज्योति चिन्ह) कहा जाता था।
  • मौर्य काल के समय असम का पश्चिमी भाग मौर्य साम्राज्य का हिस्सा था जिसे शायद महाराज चंद्रगुप्त मौर्य ने जीता था।
  • असम चाय उत्पादन के मामले में भारत में नंबर 1 है। यह भारत की 55% चाय का और संसार की 16% चाय का उत्पादन करता है।

असम के इतिहास से जुड़ें महत्वपूर्ण तथ्य - Historical Facts About Assam in Hindi

  • साल 2011 की जनसंख्या के अनुसार असम 3 करोड़ 12 लाख की आबादी के साथ भारत का 15वां सबसे ज्यादा आबादी वाला राज्य है।
  • राजा भागदत्त और उसके उत्तराधिकारियों ने कामरूप में लगभग 3000 वर्षों तक शासन किया और उनके बाद पुष्यवर्मन राजा हुआ।
  • असम में ब्रह्मपुत्र नदी द्वारा बनाया गया माजुली द्वीप (Majuli Island) विश्व का सबसे बड़ा नदी द्वारा बनाया गया द्वीप है।
  • गुवाहाटी असम का सबसे बड़ा शहर है, आपको जानकर हैरानी होगी कि गुवाहाटी संसार की Top 100 fastest growing cities में शामिल है।
  • दुनियाभर में गोल्डन सिल्क के नाम से मशहूर मूगा रेशम का उत्पादन असम में ही होता है। असम में बनने वाले मूगा रेशम की डिमांड दुनियाभर में है।
  • धर्म – 2011 की जनसंख्या गणना के अनुसार असम की 61% आबादी हिंदू है जबकि 35% मुसलमान, 4% ईसाई तथा बाकी बौद्ध, जैन और अन्य धर्मों से संबंधित है।
  • प्रति व्यक्ति आमदनी के हिसाब से असम का स्थान सभी राज्यों में पीछे से चौथे स्थान पर आता है। सिर्फ बिहार, उत्तर प्रदेश और मणिपुर ही असम से पीछे है।
  • असमिया इतिहास कई स्रोतों से प्राप्त हुआ है। मध्ययुगीन असम का अहोम राज्य कालक्रम बना रहा, जिसे बुरांश कहा जाता है, जिसे अहोम और असमिया भाषाओं में लिखा गया है।
  • असम के तिनसुकिया जिले में स्थित डिगबोई एक ऐतिहासिक जगह है। दरअसल, डिगबोई में देश का पहला तेल का कुआं खोदा गया था। यहां साल 1901 में पहली रिफाइनरी शुरू की गई थी।
  • वर्मनों के शासन के अंत के बाद असम पर म्लेच्छ वंश (655 – 900 ईसवी) और पाल वंश (900 से 1100 ईसवी) का राज रहा, इसके बाद कई सालों तक यह कई कमजोर राज्यों में बंट गया।
  • ब्रह्मपुत्र नदी को असम की life line कहा जाता है। यह राज्य के बिलकुल बीच से गुज़रती है और ब्रह्मपुत्र नदी की घाटी करीब 100 किलोमीटर चौड़ी और 1000 किलोमीटर लंबी है।
  • असम में भारत के सबसे ज्यादा कच्चे तेल के भंडार है। असम में भारत का लगभग 50% खनिज तेल का भंडार सुरक्षित है। भारत की 25% पेट्रोलियम जरूरतें असम से ही प्राप्त होती है।

आंध्र प्रदेश के बारे में पर्यटन के तथ्य - Tourism Facts About Assam

  • सोनितपुर जिले में देखने के लिए संरक्षित क्षेत्र नमेरी राष्ट्रीय उद्यान, बूरा चपोरी वन्यजीव अभयारण्य, सोनई रूपई वन्यजीव अभयारण्य और ओरंग नेशनल पार्क का एक हिस्सा हैं।
  • भाषाएं – असमिया असम में बोली जाने वाली सबसे बड़ी भाषा है जिसे करीब 49% बोलते है। इसके बाद बांग्ला (27%), हिंदी (6%), बोडो (5%), नेपाली (2.12%), और अन्य भाषाओं का नंबर आता है।
  • असम देश का सबसे बड़ा चाय उत्पादक है। असम में पूरे देश की करीब आधी चाय का उत्पादन किया जाता है। असम सरकार के मुताबिक राज्य में हर साल करीब 63 से 70 करोड़ किलो चाय का उत्पादन होता है।
  • असम का वर्णन महाभारत में भी मिलता है। महाभारत के अनुसार महाभारत युद्ध के समय प्राग्ज्योतिषपुर का राजा भगदत्त था जिसने श्री कृष्ण के कहने पर महाभारत युद्ध में पांडवों का साथ दिया था।
  • असम में स्थित काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान को एक सींग वाले राइनो का घर कहा जाता है। इस उद्यान में करीब 2400 राइनो रहते हैं जो विश्व के कुल एक सींग वाले राइनो की आबादी का दो-तिहाई हिस्सा हैं।
  • असम के कामरूप जिले में स्थित हाजो एक तीर्थ स्थल है। यह तीर्थस्थल अपने आप में बेहद खास है क्योंकि यहां हिंदू, मुस्लिम और बौद्ध धर्म को मानने वाले लोग एक साथ पूजा अर्चना करने के लिए आते हैं।
  • आजादी के बाद असम एक बड़ा राज्य था जिसकी राजधानी शिलांग थी। संस्कृति पर आधारित अलग राज्यों की मांग को लेकर साल 1968 में नागालैंड को और फिर 1972 में मेघालय और मिजोरम को असम से अलग कर दिया गया।
  • असम का एक महत्वपूर्ण भौगोलिक पहलू यह है कि यह भारत के तीन भौगोलिक हिस्सों में विभाजन हैं – उत्तरी हिमालय (पूर्वी पहाड़ी), उत्तरी मैदान (ब्रह्मपुत्र का मैदान) और डेक्कन पठार (कार्बी आंगलोंग)।
  • आपको जानकर हैरानी होगी कि 2001 में असम में हिंदू आबादी 64% थी परंतु बांग्लादेश से लगातार आ रहे मुस्लिम घुसपैठियों की वजह से हिन्दू आबादी का अनुपात कम हो गया है। असम के 10 जिले मुस्लिम बहुल है।

असम की आर्थिक तथ्यों के बारे में - Economic Facts About Assam

  • असम के गुवाहाटी में स्थित कामाख्या देवी मंदिर का अपना महत्व है। यह मंदिर माता की 51 शक्तिपीठों में सर्वोच्च मान्यता प्राप्त है। मान्यता के अनुसार देवी सती का गर्भ और योनि इस स्थान पर ही गिरे थे।
  • सन 1228 ईसवी में चाउ लुंग सिउ का फा नाम के राजा ने अहोम वंश की स्थापना की जो 1829 तक यानी कि लगभग 600 सालों तक बना रहा। इसके बाद अहोम वंश को अंग्रेजों ने हरा दिया और असम पर ब्रिटिश शासन लागू हो गया।
  • असम 78,438 वर्ग किलोमीटर के क्षेत्रफल के साथ भारत का 17वां सबसे बड़ा राज्य है जो जिसकी सीमा सभी उत्तरी पूर्वी राज्यों से मिलती है तथा इसकी अंतर्राष्ट्रीय सीमा भूटान, बांग्लादेश और म्यांमार से मिलती है।
  • असम में भारत की सबसे ज्यादा जंगली भैंसे रहती है। इसके सिवाए पक्षियों की सबसे ज्यादा प्रजातियां भी इसी राज्य में है। असम में लगभग 820 तरह के पक्षी पाए जाते है और करीब 190 प्रजातियां स्तनधारी जीवों की है।
  • चौथी सदी के राजा समुद्रगुप्त के इलाहाबाद शिलालेख से पता चलता है कि कामरूप (पश्चिमी असम) और देवास (मध्य असम) गुप्त साम्राज्य का हिस्सा थे। इसी समय असम के पूर्वी भाग पर वर्मनों का राज था जो सन 650 में खत्म हुआ।
  • असम का माजुली द्वीप कई खूबियों की वजह से जाना जाता है। यह दुनिया का सबसे बड़ा नदी द्वीप है। ब्रह्मपुत्र नदी के बीच बसे इस द्वीप में करीब 1.5 लाख की आबादी रहती है। यह द्वीप मिट्टी से बने मुखौटों के लिए भी दुनियाभर में जाना जाता है।
  • असम दुनिया में सबसे अमीर जैव विविधता क्षेत्रों में से एक है और इसमें उष्णकटिबंधीय वर्षावन शामिल हैं, पर्णपाती वन, नदी के घास के मैदान, बांस बाग और कई आर्द्रभूमि पारिस्थितिक तंत्र; कई अब राष्ट्रीय उद्यान और आरक्षित वन के रूप में संरक्षित हैं।
  • मध्यकाल में मुस्लिम शासकों ने असम पर जीत हासिल करने की कई कोशिश की पर सब के सब असफल रहे। औरंगजेब के सेनापति मीर जुमला ने असम के थोड़े से पश्चिमी क्षेत्र को जीता पर जल्द ही अहोमों ने उसे भगा दिया। इस तरह से असम कभी भी मुस्लिम शासकों के कब्जे में नहीं रहा।
  • असम के गुवाहाटी में प्रमुख पर्यटन स्थल हैं। कामाख्या मंदिर, ब्रह्मपुत्र नदी का तट, शंकरदेव कलाक्षेत्र, उमानंद मंदिर, असम राज्य चिड़ियाघर, शिल्पग्राम आदि चंदूबी झील, सोनापुर, मदन कामदेव, चंद्रपुर और पोबितोरा वन्यजीव अभयारण्य शहर के अन्य प्रसिद्ध स्थान हैं।

असम की भौगौलिक स्थिति के बारे में - Geographical Facts About Assam

  • असम का सुवालकुची गांव रेशम की बुनाई के लिए दुनियाभर में प्रसिद्ध है। गुवाहाटी से करीब 40 किमी दूर ब्रह्मपुत्र नदी के किनारे बसे इस गांव में मौजूद प्रत्येक घर में रेशम की बुनाई होती है। इस गांव के लोग रेशम की बुनाई के लिए पारंपरिक हथकरघे का इस्तेमाल करते हैं।
  • असम संसार में सबसे ज्यादा जैव विविधता वाला प्रदेश है जिसमें घास के मैदानों से लेकर बांस के जंगल और उष्णकटिबंधीय वर्षावन (tropical rainforests) शामिल है। इस राज्य को इसकी खूबसूरत हरियाली, साल के पेड़ों के जंगलों और जंगलों पर आधारित उत्पादों (products) के लिए भी जाना जाता है।
  • असम के मोरीगांव जिले में हर साल जोनबील मेला लगता है। करीब 500 साल से लगता आ रहा यह मेला स्वयं में काफी अनोखा है। दरअसल, बिहू त्योहार के समय तीन दिन तक लगने वाले इस मेले में किसी भी सामान के लिए पैसों का लेनदेन नहीं होता है। इस मेले में आने वाले लोग सामान की अदला-बदली करते हैं।
  • एशिया का सबसे पुराना अखाड़ा “रंगहार, सिबसागर”: रंगघर एक ऐतिहासिक स्मारक है जो सिबसागर शहर के पास स्थित है। ऐसा माना जाता है कि इस स्मारक का निर्माण 1744-1750 ई। के आसपास हुआ था, जिससे यह सबसे पुराना बना। रंगहार का उपयोग भैंस के झगड़े, कुश्ती आदि जैसे खेलों को देखने के लिए मंडप के रूप में अहोम राजाओं द्वारा किया जाता था।
  • भारत की सबसे चौड़ी नदी “ब्रह्मपुत्र”: ब्रह्मपुत्र को दुनिया की सबसे राजसी नदियों में से एक माना जाता है। यह लगभग 35 किमी (22 मील) तक बहती है और असम घाटी के प्रमुख दिबांग नदी और लोहित नदी से जुड़ती है। लोहित के नीचे, नदी को ब्रह्मपुत्र कहा जाता है, असम राज्य में प्रवेश करती है, और असम के कुछ हिस्सों में 10 किमी (6 मील) तक चौड़ी हो जाती है।

Friends, hope you liked this post of Post-Title. If you liked this post, then you must share it with your friends and Subscribe to us to get updates from our blog. Friends, If you liked our site FactsCrush.Com, then you should Bookmark it as well.

Post a Comment

0 Comments