160 Weird Facts about Earth in Hindi

Earth Facts in Hindi - पृथ्वी एक अजीब ग्रह है। इस ग्रह की ऐसी बहुत सी चीजे है, जो अभी भी राज है। इन राज के साथ पृथ्वी के बहुत सारे रोचक तथ्य भी है। जिनके बारे में आपको शायद ही पता होगा। आज की इस हम आपको पृथ्वी के कुछ रोचक तथ्य के बारे में बताने जा रहे है। आप इस पोस्ट को पूरा पढ़े। आपको है कि आपको इस पोस्ट से बहुत अच्छी जानकारी मिलेगी।
160 Weird Facts about Earth in Hindi

160 धरती के बारे में अजीब तथ्‍य - Weired Facts about Earth in Hindi

  • पृथ्वी पर एक बार सबसे विशाल उल्कापिंड गिरा था। इसका नाम होबा मीटिऑराइट रखा गया था।
  • धरती पर इतना Gold है, जो 1.5 फीट की गहराई तक इसकी पूरी सतह को ढंक सकता है।
  • 12 मील (19 किलोमीटर) की ऊंचाई पर प्रेशराइज्ड सूट पहनना जरूरी होता है। वरना मौत हो सकती है।
  • पृथ्वी पर 1 सेकेंड में 100 बार और हर दिन 80.6 लाख बार आकाशीय बिजली गिरती है।
  • पृथ्वी पर मौजूद महासागरों में से 95% से अधिक महासागर आज भी इंसानो कि पहुंच से दूर है।
  • Earth पर अरबो साल पहले पाई जाने वाली जीवो कि कुल प्रजातियों में से 99% प्रजातियाँ अब विलुप्त हो चुकी है।
  • पृथ्वी के घूमने की गति धीरे-धीरे धीमी हो रही है, इसका अर्थ है कि अब से लगभग 140 मिलियन वर्षों में, पृथ्वी पर एक दिन की लंबाई 25 घंटे होगी।
  • अंटार्कटिका में पाई जाने वाली सूखी घाटियाँ Earth के सबसे शुष्क स्थानों में से एक है। जोकि 4800 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैला है वह इस स्थान पर पिछले 2 मिलियन वर्षों से वर्षा नहीं हुई है।
  • नील नदी पृथ्वी की सबसे लंबी नदी है जो बुरुंडी में अपने स्रोत से 6,695 किलोमीटर दूर भूमध्य सागर तक फैली हुई है, हालांकि, अमेजन पानी स्टोरेज के मामले में दुनिया की सबसे बड़ी नदी है।
  • पृथ्वी पर होने वाले मौसम का बदलाव इसके सूर्य के चारो और घूर्णन गति के कारण होते है।
  • वैज्ञानिकों ने हाल ही में गणना की है कि पृथ्वी पर 1500 से अधिक खनिज प्रदार्थ ऐसे है जिन्हे अभी तक खोजा नहीं जा सका है। मनुष्य पृथ्वी पर पाए जाने वाले 5000 से अधिक खनिजों से अवगत है।
  • हमारे ग्रह पृथ्वी पर कुछ चट्टानें अपने आप चलती है। हालांकि, वैज्ञानिक इन चट्टानों की वास्तविक गति को पकड़ने में अभी तक विफल रहे है।
  • आकार और बनावट के मामले में पृथ्वी शुक्र की तरह है।
  • पृथ्वी का एकमात्र उपग्रह चंद्रमा है।
  • पृथ्वी अपने अक्ष पर पश्चिम से पूरब की ओर 1610 किलोमीटर प्रतिघंटा की चाल से चक्कर लगाती है।
  • पृथ्वी अपने अक्ष पर 23 घंटे 56 मिनट और 4 सेकेंड में एक चक्कर पूरा करती है, जिससे दिन और रात होते है।
  • पृथ्वी पर ऋतु परिवर्तन, इसकी अक्ष पर झुके होने के कारण होता है।
  • लगातार धरती के अंदरूनी ताप स्थिर रखता है। एक अनुमान के अनुसार इस अंदरूनी भाग का तापमान 5000 से 7000 डिगरी सैलसीयस है जो कि सुर्य की सतह के तापमान के बराबर है।
  • अंतरिक्ष में मौजूद कचरे का एक टुकड़ा हर दिन पृथ्वी पर गिरता है। यह अनुमान नासा के वैज्ञानिकों ने लगाया है।
  • क्या आप जानते है कि धरती के सारे महाद्वीप आज से 6.5 करोड़ साल पहले एक दूसरे से जुडे हुए थे। वैज्ञानिको का मानना है कि धरती पर कोई उल्का पिंड गिरने या फिर निरंतर ज्वालामुखियों और ताकतवर भुकंपों के कारण यह महाद्वीप आपस से अलग होने लगे, इसी कारण धरती से डायनासोरो का अंत हुआ था। पहले जब सभी महाद्वीप जुड़े हुए थे और इसे वैज्ञानको ने पैंजीया नाम दिया है।
  • विज्ञानिको का ऐसा मानना है कि कि कुछ क्षुद्रग्रह/धूमकेतु भविष्य में Earth से टकरा सकते है और इस गृह के जीवन को पूरी तरह तबाह कर सकते है। डायनासोर काल में एक ऐसी ही घटना घट चुकी है। जिसने डायनासोर कि प्रजाति को पृथ्वी से मिटा दिया था।
  • वैज्ञानिकों ने हाल ही में अनुमान लगाया है कि पृथ्वी की सतह के नीचे 1,000 किलोमीटर की दूरी पर पानी का एक महासागर मौजूद है।
  • सूर्य की एक परिक्रमा लगाने में पृथ्वी के द्वारा लगे समय को सौर वर्ष कहा जाता है।
  • पृथ्वी को ऊर्जा सूर्य से मिलती है और इसी ऊर्जा से पृथ्वी की सतह भी गरम होती है।
  • पृथ्वी की पहली परत का निर्माण एल्युमिनियम और सिलिकॉन धातु से हुआ है।
  • समुद्र तल से पृथ्वी की सबसे अधिक ऊंचाई 8,848 मीटर है।
  • पृथ्वी की अनुमानित आयु 4600,000,000 वर्ष है।
  • पृथ्वी के 40% हिस्से में दुनिया के सिर्फ छ: देश है।
  • पृथ्वी के सारे मनुष्य 1 वर्ग किलोमीटर के घन (cube) में समा सकते है। यदि हम एक वर्ग मीटर में एक व्यक्ति को खड़ा करे तो एक वर्ग किलोमीटर में दस लाख व्यक्ति खड़े हो सकते है।
  • पृथ्वी की सतह पर 70% से अधिक पानी है, लेकिन क्या आप जानते है यह पृथ्वी के द्रव्यमान के 1% से भी कम है। पृथ्वी का द्रव्यमान 5,972,190,000,000,000,000,000,000 किग्रा है।
  • पृथ्वी का कोर लगभग 85-88% लोहे से बना है और इसकी परत पर लगभग 47% ऑक्सीजन है।
  • Earth सौरमंडल का एकमात्र ग्रह है। जिसकी सतह के नीचे टेक्टोनिक प्लेट्स मौजूद है। ये प्लेटें पृथ्वी के अंदर मैग्मा के ऊपर तैर रही है, जब ये प्लेटें आपस में टकराती है, तो पृथ्वी पर कंपन पैदा होती है। जिसे आम भाषा में भूकंप कहते है।
  • पृथ्वी का निर्माण लगभग 4.54 बिलियन साल पहले हुआ था और पृथ्वी को लेकर विज्ञानिको का अनुमान है, कि इस गृह पर लगभग 4.1 बिलियन वर्ष पहले जीवन का अस्तित्व आंरभ हुआ था।
  • 3,959 मील की त्रिज्या के साथ, Earth हमारे सौर मंडल का पांचवा सबसे बड़ा ग्रह है।
  • पृथ्वी को अंतरिक्ष में, 6 बिलियन किलोमीटर की दूरी से देखने पर एक नीले रंग के तारे जैसे प्रतिक होता है व् आकाश से पृथ्वी का नीला होने का कारण इस गृह पर मौजूद जल है।
  • पृथ्वी आकार और द्रव्यमान के मामले में पांचवां सबसे बड़ा ग्रह है।

Facts about Earth in Hindi

  • पृथ्वी के वायुमंडल में ओजोन परत पाई जाती है जो इसे सूर्य की शक्तिशाली और हानिकारक UV (Ultra Violet) किरणों से बचाती है।
  • क्या आप जानते है अगर पृथ्वी की सतह से दबाव और घनत्व नष्ट हो जाएं तो सभी जीवित व् निर्जीव वस्तुए पृथ्वी को छोड़ कर अंतरिक्ष कि तरफ उड़ने लगेंगे और कभी वापस पृथ्वी पर नहीं आ पाएंगे।
  • पृथ्वी चार मुख्य परतों से बनी है, जिनके नाम: आंतरिक कोर, बाहरी कोर, मेंटल और क्रस्ट है।
  • पृथ्वी की सभी चार परतों में सबसे मोटी परत Metal है, जो 2900 किलोमीटर मोटी है वह सबसे पतली परत Crust है जो पृथ्वी कि सतह से औसतन 30 किलोमीटर की गहराई पर है।
  • पृथ्वी सौर मंडल के सबसे अधिक घनत्व वाले ग्रहो में गिना जाता है और इसका औसत घनत्व 5.51 ग्राम प्रति घन सेंटीमीटर है।
  • उत्तरी ध्रुव से दक्षिणी ध्रुव तक Earth का व्यास भूमध्य रेखा के पार इसके व्यास से 43 किलोमीटर कम है।
  • Earth एकमात्र ऐसा ग्रह है जिसके वायुमंडल में 21% ऑक्सीजन है और इसकी सतह पर तरल पानी है।
  • पृथ्वी सूर्य से 1 AU की दूरी पर है, AU (सूर्य से पृथ्वी की दूरी) सूर्य से आकाशीय पिंडों की दूरी मापने की मानक इकाई है और सूर्य के प्रकाश को पृथ्वी तक पहुंचने में 8 मिनट 20 सेकंड का समय लगता है।
  • Earth के वायुमंडल की अंतिम परत, एक्सोस्फीयर का विस्तार 700 किलोमीटर एओव से है। जिसका मतलब यह परत समुद्र तल से 10,000 किलोमीटर तक बाहरी अंतरिक्ष में स्थित है।
  • क्या आपने कभी सोचा है पृथ्वी पर हर चार साल में एक लीप वर्ष क्यों होता है? ऐसा इसलिए है क्योंकि पृथ्वी पर एक वर्ष ठीक 365 दिन नहीं बल्कि 365.2564 दिन का होता है, यह अतिरिक्त 0.2564 दिन हर चार साल में फरवरी के महीने में एक अतिरिक्त दिन (लीप दिन) के साथ समायोजित किया जाता है।
  • Earth कि भूमध्यरेखीय परिधि 40,030.2 किलोमीटर व इसका आयतन 1,083,206,916,846 घन किलोमीटर है।
  • पृथ्वी का घनत्व 5.513 ग्राम प्रति घन सेंटीमीटर व् भूतल क्षेत्र 510,064,472 वर्ग किलोमीटर है।
  • पृथ्वी कि सतह का औसत तापमान -88/58 (न्यूनतम/अधिकतम) डिग्री सेल्सियस है।
  • Earth कि सतह का अब तक का सबसे गर्म दिन 56.7° C (134° F) डिग्री सेल्सियस था, जिसे 10 जुलाई 1913 को ग्रीनलैंड रंच, डेथ वैली, कैलिफोर्निया, में रिकॉर्ड किया गया था।
  • सौर मण्डल में धरती ही अकेला ऐसा ग्रह है जहाँ पानी तीनों अवस्थाओं में मौजूद है – द्रव, गैस और ठोस।
  • पिछले चालीस सालों में धरती से 40% जंगली जानवर (वन्य जीव) खत्म हो चुके है।
  • धरती सौर मण्डल में अकेला ऐसा ग्रह है जहाँ पूर्ण सूर्यग्रहण होता है।
  • अंटार्कटिका धरती का सबसे ठंडा, सबसे तेज हवाओं वाला और सबसे शुष्क महाद्वीप है।
  • हर दिन धरती के वातावरण में 100 से 300 टन कॉस्मिक डस्ट घुस जाती है।
  • धरती पर कहीं ना कहीं रोजाना 10 से 20 ज्वालामुखी फटते है।
  • पृथ्वी पर हर रोज़ 44,000 बदल गरजते है। जिसमें से सिर्फ 1800 बदल ही बारिश के रूप में बरस ते है।
  • पृथ्वी की सतह का सिर्फ 11% हिस्सा ही कृषि कार्य के उपयोगी है।
  • हमारे इस धरती पर जितना पानी (water) है उसमें से सिर्फ 1% पानी ही पीने लायक है. इन 1% पनि में से 0.003% पानी पहले से ही उपयोग हो चुका है और जितना पानी उपयोग हो चुका है उनमें से 75% पानी कृषि विकास में उपयोग हो चुका है।
  • पृथ्वी पर सबसे पहले चीनी को शुद्ध करने का तरीका ढूंढने वाला देश भारत है।
  • पृथ्वी की घूमने की रफ़्तार कम होने की वजह है चाँद। जी हाँ चाँद हर साल पृथ्वी से 3.785 सेंटीमीटर दूर जा रहा है।
  • लगभग 450 करोड़ साल पहले पृथ्वी पर एक दिन 26 घंटे का होता था।
  • धरती के गुरूत्वाकर्षण के कारण पर्वतों का 15,000 मीटर से ऊँचा होना संभव नहीं है।
  • आज से 450 करोड़ साल पहले, सुर्य मंडल में मंगल के आकार का एक ग्रह था जो कि पृथ्वी के साथ एक ही ग्रहपथ पर सुर्य की परिक्रमा करता था। मगर यह ग्रह किसी कारण धरती से टकराया और एक तो धरती मुड़ गई और दूसरा इस टक्कर के फलसरूप जो पृथ्वी का हिस्सा अलग हुआ उससे चाँद बन गया।
  • पृथ्वी का 97% पानी खारा है और फ्रेश पानी मात्र 3% ही है। 90% विश्व का कचरा समुद्रों में पहुंचता है।
  • पृथ्वी और सूर्य के बीच की न्यूनतम दूरी 147.5 मिलियन किलोमीटर है और पृथ्वी और सूर्य के बीच की अधिकतम दूरी (उदासीनता) 152.1 मिलियन किलोमीटर है।
  • सूर्य की ऊर्जा का कुछ भाग पृथ्वी और समुद्र की सतह से टकराकर वायुमंडल में बदल जाता है।
  • सूर्य से पृथ्वी तक प्रकाश पहुंचने में 8 मिनट 18 सेकंड लगते है।
  • पृथ्वी आकार में पांचवां सबसे बड़ा ग्रह है।
  • सूर्य के बाद पृथ्वी का सबसे नजदीकी तारा प्रॉक्सिमा सेन्चुरी है।
  • महासागर और महाद्विप पृथ्वी के सबसे ऊपरी सतह पर टिके हुए है।
  • मनुष्य के द्वारा सबसे ज्यादा गहराई तक खोदा जाने वाला गड्ढा 1989 में रूस में खोदा गया था जिसकी गहराई 12.262 किलोमीटर थी।
  • 1953 में जब नेशनल हरीकेन सेंटर की शुरुआत हुई। तो उसने सबसे पहले तूफान को जो नाम दिया, वह स्त्री संत का नाम था। 1979 में यह पहला मौका आया जब तूफानों में पुरुष नाम भी शामिल किए गए। अब तूफानों के नाम महिलाओं और पुरुषों दोनों के नाम पर होते है।
  • एक दिन 23 घंटे 56 मिनट 4 सेकंड का होता है। इतना ही समय पृथ्वी अपनी धुरी पर घूमने में लेती है।
  • माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई समुद्र स्तर से 8850 मीटर है। लेकिन पृथ्वी के केंद्र से अंतरिक्ष की दूरी देखें तो सबसे ऊंचा पर्वत इक्वाडोर का माउंट चिम्बोराजो है। इसकी ऊंचाई 6310 मीटर है।
  • पृथ्वी को कभी ब्रह्मांड का केंद्र माना जाता था और वैज्ञानिकों का मानना ​​था कि सूर्य और अन्य ग्रह इसके चारों ओर घूमते है हालाँकि, वैज्ञानिकों द्वारा पृथ्वी के संदर्ब में निरंतर कि गई खोजो ने इस धारणा को गलत साबित कर दिया।
  • आंतरिक निकेल-आयरन कोर की उपस्थिति के कारण, पृथ्वी के पास एक मजबूत चुंबकीय क्षेत्र है, यह चुंबकीय क्षेत्र पृथ्वी पर भारी सौर हवाओं को बहने से रोकने के लिए जिम्मेदार है।
  • बरमूडा त्रिकोण पर होने वाले हादसों को लेकर विज्ञानिको का मानना है कि ये सभी हादसे पृथ्वी कि मजबूत चुंबकीय शक्ति के कारण होते है।

पृथ्वी से जुड़े रोचक तथ्य व् पूरी जानकारी - Earth Facts in Hindi

  • Earth पर सबसे अधिक वर्षा वाला स्थान मेघालय का मासिनराम है, इस स्थान पर 11,871 मिमी औसत वार्षिक वर्षा होती है।
  • मालदीव दुनिया का सबसे समतल देश है, जिसका औसत समुद्र स्तर 2.4 मीटर से अधिक है।
  • पृथ्वी के वायुमंडल और बाहरी अंतरिक्ष के बीच की सीमा को कर्मन रेखा के रूप में जाना जाता है। यह सीमा पृथ्वी के समुद्र स्तर से 100 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इस सीमा को पार करने वालो को ही अंतरिक्ष यात्री कहाँ जाता है।
  • चीन का वायु प्रदूषण इतना ज्यादा है कि स्पेस से देखने पर द ग्रेट वाल ऑफ चाइना भी दिखाई नहीं दी।
  • पृथ्वी के स्लो रोटेशन की वजह से 2015 एक सेकंड लंबा था।
  • पृथ्वी का सबसे ठंडा स्थायी रूप से बसा हुआ स्थान: रूस के साइबेरिया के एक गाँव ओयमकॉन है, जहाँ का सर्दियों में तापमान - 68°C तक पहुँच जाता है।
  • धरती पर अब तक का सबसे ठंडा तापमान अंटार्कटिका के वोस्तोक स्टेशन पर था जोकि शून्य से - 89.2°C दर्ज किया गया था।
  • अगर मनुष्य को बिना किसी सुरक्षा उपाय के स्पेस में छोड़ दिया जाए तो वह केवल 2:00 मिनट तक ही जीवित रहेगा।
  • धरती पर ताप का स्त्रोत केवल सुर्य नही है। बल्कि धरती का अंदरूनी भाग पिघले हुए पदार्थों से बना है जो 
  • धरती पर मौजुद हर प्राणी में कार्बन जरूर है।
  • आज भी दुनिया की 748 मिलियन आबादी को पीने के लिए भी साफ पानी नसीब नहीं होता है। लगातार इस्तेमाल होने वाले टॉयलेट में रोज औसतन 200 गैलन पानी बर्बाद होता है। लीकेज के चलते रोजाना 36 मिलियन गैलन पानी बर्बाद होता है।
  • प्रतिवर्ष 10-12 दुघर्टनाओं का कारण शार्क होती है। हर साल 100 मिलियन शार्क मारी जाती है।
  • यदि पृथ्वी का पूरा जल इकट्ठा किया जाए, तो यह 860 घन किलोमीटर के आकार की बॉल बनेगी। यह शनि के बर्फीले चांद टेथी के आकार से अधिक होगी।
  • 3.7 बिलियन मील की दूरी से लिया गया पृथ्वी के फोटो का नाम ‘पेल ब्ल्यू डॉट’ है। अभी तक यह सबसे अधिक दूरी से ली गई धरती की तस्वीर है।
  • 150 बिलियन डॉलर कुल लागत है इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन की। यह सबसे अधिक खर्चीला प्रोजेक्ट है, जिस पर सबसे ज्यादा राशि खर्च हुई।
  • धरती अकेली ऐसी ज्ञात जगह है जहाँ आग (fire) जलाई जा सकती है।
  • रोजाना करीब 4 अरब पत्थर और पिंड अंतरिक्ष से धरती पर गिरते है।
  • धरती की अंदरूनी गहराई में समुद्रों से 3 गुना ज्यादा पानी मौजूद है।
  • धरती पर करीब 3.04 trillion यानि 30 खरब पेड़ है।
  • इन्द्रधनुष गोल होता है लेकिन हमें केवल आधा ही दिखाई देता है क्यूंकि पृथ्वी के क्षितिज की वजह से आधा ढक जाता है।
  • पृथ्वी के चंद्रमा कि त्रिज्या 1,738 किलोमीटर है जोकि सौर मंडल का पांचवां सबसे बड़ा चंद्रमा है।
  • पृथ्वी पर समुद्रों में आने वाला ज्वार-भाटा, पृथ्वी और चंद्रमा के बीच गुरुत्वाकर्षण बल के कारण होता है।
  • चंद्रमा का एक ही पक्ष हमेशा पृथ्वी का सामना कर रहा है, जिसका अर्थ है कि चंद्रमा पृथ्वी के साथ समकालिक रोटेशन में है।

EARTH FACTS IN HINDI – पृथ्वी से संबंधित मज़ेदार तथ्य

  • पृथ्वी के चंद्रमा का आकार पृथ्वी के आकार का लगभग 27% है।
  • पृथ्वी पर तरल रूप में पानी का अस्तित्व पृथ्वी पर मौजूद तापमान अवधि के कारण बना है, जिसमे पानी 100 डिग्री सेल्सियस पर उबलने लगता है और इस प्रकार पृथ्वी का तापमान इसे गैस में परिवर्तित करता है और इसे मनुष्यों, जानवरों और पक्षियों आदि जीवित प्राणियों तक बादलो के माध्यम से पहुँचा देता है।
  • लगभग हर साल 30,000 बाहरी अंतरिक्ष के पिंड धरती के वायुमंडल मे दाखिल होते है। पर इनमें से ज्यादातर धरती के वायुमंडल के अंदर पहुँचने पर घर्षण के कारण जलने लगते है। जिन्हें हम अकसर ‘टूटता तारा’ कहते है।
  • इंसान द्वारा बनाई गई 22 हजार वस्तुएं अर्थ प्लेनेट पर चक्कर लगा रही है।
  • दुनिया में हर साल 5 लाख भूकंप आते है। इनमें से एक लाख भूकंप सिर्फ महसूस किए जाते है, जबकि 100 विनाशकारी होते है।
  • धरती पे कुल 500 सक्रीय ज्वालामुखी ऐसे है जिन्होंने धरती की सतह के निचले और उतले भाग का 80 प्रतीशत हिस्सा अपनी ज्वालामुखी राख से बनाया है।
  • धरती के सारे महाद्वीप पिछले 2.5 करोड़ साल से गति कर रहे है। यह गति टैकटोनिक प्लेटों की निरंतर गति के कारण है। हर महाद्वीप दूसरे महाद्वीप से भिन्न चाल से गति कर रहा है। जैसे के प्रशांत प्लेट 4 सैटीमीटर प्रति वर्ष जबकि उत्तरी अटलाटिंक 1 सैटीमीटर प्रति वर्ष गति करती है।
  • ग्लोबल वार्मिंग की वजह से धरती की सतह का तापमान 1.5°F बढ़ चुका है।
  • जीवाश्म इस बात का सबूत है कि मछलियां 53 करोड़ साल पहले भी मौजूद थी।
  • पिछले 40 सालों में धरती की एक तिहाई खेती की जमीन बंजर हो चुकी है।
  • धरती पर केवल पानी ही जमी हुई अवस्था में है जबकि प्लूटो पर नाइट्रोजन, मीथेन और कार्बन मोनो ऑक्साइड भी जमी हुई अवस्था में है।
  • पृथ्वी को बाहरी अंतरिक्ष से अपने नीले रंग की उपस्थिति के कारण "Blue Planet" के रूप में भी जाना जाता है।
  • पृथ्वी एकमात्र ऐसा ग्रह है जिसका नाम ग्रीक या रोमन देवता के नाम पर नहीं रखा गया था। उदाहरण के तोर पर बृहस्पति गृह का नाम रोमन देवताओं के राजा और यूरेनस गृह का नाम आकाश के ग्रीक देवता के नाम पर रखा गया है। लेकिन पृथ्वी का नाम अंग्रेजी/जर्मन से आया है, जिसका अर्थ है "भू"।
  • Earth के पास एक मात्र प्राकृतिक उपग्रह है जिसका नाम चंद्रमा है, जबकि बृहस्पति गृह के कुल 67 चंद्रमा है।
  • क्या आप जानते है हम सभी सूर्य के चारों ओर 107,182 किलोमीटर प्रति घंटे के औसत वेग से यात्रा कर रहे है और हम एक विशाल गति के साथ इसके चारों और घूम रहे है।
  • पृथ्वी के आंतरिक कोर का तापमान 5400 और 6000 डिग्री सेल्सियस के बीच है, इसका एकमात्र उदाहरण पृथ्वी के आंतरिक कोर से ज्वालामुखी के द्वारा निकलने वाला मेग्मा है।
  • पृथ्वी के आंतरिक कोर का तापमान सूर्य कि सतह के तापमान से भी अधिक है।
  • पृथ्वी के वायुमंडल में पाँच परतें है - ट्रोपोस्फीयर, स्ट्रैटोस्फीयर, मेसोस्फीयर, थर्मोस्फीयर, और एक्सोस्फ़ेयर। पृथ्वी का वायुमंडल जमीनी स्तर से 50 किलोमीटर की ऊँचाई तक सबसे मोटा है और इसका विस्तार 10,000 किलोमीटर तक है।
  • हवाई जहाज अधिकतम 60,000 फीट की ऊंचाई पर उड़ते है जो लगभग 18.288 किलोमीटर है।
  • Earth की सतह का लगभग 70% महासागरों द्वारा कवर किया जाता है जिसमें इस गृह का 97% पानी होता है, ये महासागर महान रहस्यों और भौगोलिक विशेषताओं से भरे पड़े है। उदाहरण के तोर पर पृथ्वी की सबसे लंबी पर्वत श्रृंखला भी पानी के नीचे है।
  • विज्ञानिको का यह मानना है कि, 3.8 अरब साल पहले महासागरों में जलीय जीवन की शुरुआत हुई थी। जिसमे मछलिया, समुंद्री किट इत्यादि सबसे पहले उत्पन हुए थे।
  • प्रशांत महासागर की सतह के नीचे जापान के दक्षिण पूर्व में "मारियाना ट्रेंच" नामक खाई पृथ्वी पर सबसे गहरी ज्ञात खाई है। जोकि लगभग सात मील गहरी है।
  • Earth के Rotation की धुरी सूर्य के चारों ओर घूमने के संबंध में 23.4 डिग्री झुकी हुई है और पृथ्वी का सूर्य के चारों ओर कक्षा का आकार 149,598,262 किलोमीटर है।
  • भूमध्य रेखा के दक्षिण में एक डिग्री पर स्थित माउंट चिम्बोराजो का शिखर, पृथ्वी का सबसे ऊंचा बिंदु है। इस बिंदु पर, पृथ्वी का उभार सबसे बड़ा है।
  • दुनिया में 40% मौतें पानी, हवा और मिट्टी के प्रदूषण से होती है। सिर्फ एयर पॉल्यूशन से हर साल 70 लाख लोगों की मौत हो रही है।
  • दुनिया में रोजाना 1 अरब लोगों को पीने लायक पानी नहीं मिल रहा, जबकि 2 अरब लोग साफ पानी को तरस रहे है। 2050 तक करीब 09 अरब लोग बिना पानी या कम पानी में गुजारा कर रहे होंगे। 2025 तक भारत के करीब 60% भूजल स्रोत पूरी तरह सूख चुके होंगे।
  • समुद्र के एक लीटर पानी के 13 बिलियन हिस्से में एक ग्राम सोना मिलता रहता है।
  • पृथ्वी पर 99 फीसदी जीवित प्राणी महासागरों में से है 2000 जलीय जीवों की प्रजातियों के बारे में हर साल बताया जाता है।
  • 106 बिलियन लोग पृथ्वी पर है। आगामी वर्ष 2050 में 9.2 बिलियन लोगों की संख्या बढ़ जाएगी।
  • 200,000 लोग पृथ्वी पर हर दिन जन्म लेते है। हर सेकंड में दो लोगों की मौत हो रही है।
  • इंसान द्वारा सबसे पुराना धार्मिक स्थल गोबेकली टेप तुर्की में स्थित है। इसका निर्माण 10,000 वर्ष ईसा पूर्व में किया गया था।
  • सूरज के अंदर 13 लाख पृथ्वी बराबर तारे समा सकते है।
  • कांच की एक बोतल को पूरी तरह नष्ट करने में 4 हजार से भी ज्यादा साल लगते है।
  • धरती पर हर साल 77 लाख लोगों का बोझ बढ़ जाता है।
  • पृथ्वी पर सबसे पहले जीवन की शुरुआत पानी से ही हुई इसलिए तो कहते है “जल ही जीवन है”।
दोस्तों उम्मीद है कि आपको हमारी यह पोस्ट Weird Facts about Earth in Hindi पोस्ट पसंद आयी होगी। अगर आपको हमरी यह पोस्ट पसंद आयी है तो आप इससे अपने Friends के साथ शेयर जरूर करे और हमें Subscribe कर ले। ता जो आपको हमारी Latest पोस्ट के Updates मिलते रहे। दोस्तों अगर आपको हमारी यह साइट FactsCrush.com पसंद आयी है तो आप इसे bookmark भी कर ले।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ