110+ Crazy Information & Facts About Ants in Hindi

Facts About Ants in Hindi - दोस्तों आज हम आपको उस नन्हे जीव के बारे में बताएंगे जो हमें बहुत कुछ सीखाती है वो है चींटी। दोस्तों चींटी या पिपीलिका एक सामाजिक कीट है, जो फ़ोरमिसिडाए नामक जीववैज्ञानिक कुल में वर्गीकृत है। इस जीव की 12,000 से अधिक जातियों का वर्गीकरण किया जा चुका है और अनुमान है कि इसमें लगभग 10,000 और प्रजातियाँ हैं। इनका विश्व के पर्यावरण में भारी प्रभाव है। अगर इनके बारे में कुछ रोच ओर ख़ास तथ्य (Facts & Information About Ants In Hindi) जानना चाहते है तो इस पोस्ट को पूरा पढ़ें।
110+ Crazy Information & Facts About Ants In Hindi

चींटियों के बारे में रोचक तथ्य - Ants Facts in Hindi

  • चींटियाँ (Ants) जुझारू प्रवृत्ति की होती है। यदि उनमें लड़ाई हो जाए, तो वे मरते दम तक हार नहीं मानती और लड़ती रहती है।
  • मरने के बाद चीटियों के शरीर से एक ‘Oleic Acid’ नामक केमिकल निकलता है, जिससे अन्य चींटियाँ ये जान लेती है कि वह चींटी मर चुकी है।
  • मरने के बाद चींटियों के शरीर से निकला केमिकल यदि दूसरी चींटियों पर डाल दिया जाए, तो अन्य चींटियाँ उन्हें भी मरा समझने लगेंगी।
  • पृथ्वी पर मनुष्य और चींटियाँ ही है, जो अपना भोजन संचय करके रखते है।
  • सभी चींटियां तैर नहीं सकती है, यह प्रजातियों पर निर्भर करती है। हालांकि वह तितली या ब्रेस्टस्ट्रोक जैसी तो नही है, लेकिन उनके पानी में जीवित रहने की क्षमता है, और यह लंबे समय तक भी तैर सकती है।
  • चींटी की कुछ प्रजातियां, जैसे पॉलीर्जस लुसीडस को दास बनाने वाली चींटियों के रूप में जाना जाता है। वे पड़ोसी चींटी उपनिवेशों पर आक्रमण करते है, उनके निवासियों को पकड़ते है और उन्हें उनके लिए काम करने के लिए मजबूर करते है, इस प्रक्रिया को दास छेड़छाड़ के रूप में जाना जाता है।
  • चूहे जैसे अन्य कीटों के विपरीत, चींटियों में कान नहीं होते है। वह भोजन के लिए या अलार्म सिग्नल के रूप कंपन का उपयोग करती है।
  • अनुमान लगाया गया है कि दुनिया में हर 1 इंसान के लिए लगभग 1 मिलियन चींटियां है।
  • चींटियों ने पूरी दुनिया को काफी हद तक जीत लिया है। अंटार्कटिका, आर्कटिक और कुछ मुट्ठी द्वीपों के अपवाद के साथ, प्रत्येक महाद्वीप पर कम से कम एक देशी प्रजातियां पाई जाती है।
  • आपको यह जानकर हैरानी होगी कि कुछ चींटियों की कोई आंखें नहीं होती।
  • यह चीटियां लाखों की संख्‍या में अपने शिकार की तलाश में निकलती है, जब शिकार चंगुल में फंस जाता है तो उसका मांस खा जाती है।
  • चीटियों में एक खास गुण होता है जिसके चलते वे अपने शरीर से छोड़ी गई गंध के जरिए अपने पुराने बिल में वापस भी जा सकती है।
  • ऊंचाई से गिरकर ऊपर चढ़ना इनकी खासियत होती है।
  • हर प्रजाति की चीटियों की अपनी सीमाएं होती है, जो एक-दूसरे पर हमला भी करती है।
  • चीटियों के अपने महल भी होते है, जो तीन फुट तक ऊंचे होते है।
  • चीटियों की कई प्रजातियां खूंखार भी होती है। ऐसी प्रजाति की चींटी मध्‍य अफ्रीका, दक्षिण अमेरिका और दक्षिण एशिया में पाई जाती है।
  • आपको जानकर हैरानी होगी लेकिन यह सच है कि चीटियां मांसा‍हारी भी होती है।
  • चींटियों बेहद मजबूत होती है। उनके पास अपने शरीर के वजन से 10 से 50 गुना बोझ ढ़ोने की क्षमता होती है। उदाहरण के लिए, एशियाई वीवर चींटी अपने स्वयं के द्रव्यमान से 100 गुना बोझ उठा सकती है।
  • आधिकारिक रूप से चींटियाँ दुनिया की सबसे स्मार्ट कीट है। इनमें 2,50,000 मस्तिष्क कोशिकाएं (brain cells) होती है।
  • कई लोगों का मानना है कि चींटियों का खून नीले रंग का होता है। लेकिन वास्तव में ऐसा नहीं है। चींटियों का खून पूरी तरह से बेरंग होता है।
  • उष्णकटिबंधीय क्षेत्रों (tropical regions) में चींटियाँ सभी जीवों के द्रव्यमान का 25% हिस्सा निर्मित करती है।
  • कुछ चींटियों के बिल जमीन में 2 फीट तक गहरे होते है।
  • वर्तमान में पृथ्वी पर लगभग 10,000,000,000,000,000 चींटियाँ है।
  • यदि दुनिया के सभी मनुष्यों का द्रव्यमान और दुनिया की सभी चींटियों का द्रव्यमान जोड़ा जाए, तो वो समान होगा।
  • चींटियाँ (Ants) दिखने में अवश्य छोटी सी है, लेकिन आश्चर्यजनक रूप से वे अपने शरीर के वजन का 50 गुना भार लेकर चल सकती है।

Facts About Ants In Hindi

  • चींटियों का औसत जीवनकाल 28 वर्ष होता है।
  • चींटियों का सभी कीड़ों में सबसे लंबा जीवन होता है, जो 30 साल तक जीवित रहता है।
  • दुनिया की सबसे छोटी चींटी दुनिया की सबसे बड़ी चींटी के मस्तिष्क में रह सकती है।
  • चींटियां एक वर्ग मील में प्रति वर्ष अनुमानित 50 टन मिट्टी को स्थानांतरित करती है।
  • अग्नि चींटियां प्रति वर्ष उत्तरी अमेरिका में अनुमानित $5 बिलियन के नुकसान का कारण बनती है।
  • अधिकांश चींटियों पानी के भीतर लगभग 24 घंटे तक जीवित रह सकती है।
  • दुनिया में चींटियों की एक ऐसी भी प्रजातियां है जो की काफी कुख्यात है। इन्हीं में से एक प्रजाति का नाम है “Driver Ant”। कहा जाता है कि एक तरीके से आदमखोर चींटी और यह अपने रास्ते में आने वाले हर एक चीज़/जीव को खा जाते है। वैज्ञानिकों का कहना है कि यह चींटियाँ आसानी के साथ इंसान तथा घोड़ों को चट कर जाती है।
  • दुनिया की सबसे छोटी चींटी सिर्फ 2 मिलीमीटर लंबी है।
  • पृथ्वी पर मौजूद जीतने भी चींटियों के घोंसले है उन सभी का गंध अलग-अलग है। अलग-अलग गंध होने के कारण घोंसले के अंदर शत्रु के घुसपैठ के बारे में पता चलता है।
  • ऑस्ट्रेलियाई हरी चींटी (Australian Green Ants) के द्वारा बनाई गई कॉलोनी बारह पेड़ों तक फैली हो सकती है।
  • हिम युग के दौरान पृथ्वी पर मौजूद ज़्यादातर प्राणियों का अस्तित्व ही मीट गया। परंतु रोचक बात तो यह है की, हिम युग के इतने प्रतिकूल वातावरण के बावजूद चींटियाँ अपने छोटे आकार के कारण बचीं रहीं और अब तक पृथ्वी में अपनी अस्तित्व बचा कर रखी हुई है।
  • भले ही एक चींटी का दिमाग छोटा हो, परंतु चींटियाँ आपस में मिलकर एक “सुपर ब्रेन” को बना भी सकते है। इनके अलावा अन्य कोई जीव सुपर ब्रेन को बनाने में अक्षम है।
  • चींटियों में फेफड़े नहीं होने के कारण चींटियाँ पूरे दिन पानी के भीतर रह सकती है।
  • चींटियों के दो पेट होते है। एक पेट में वे अपने लिए भोजन एकत्रित करती है और दूसरे पेट में दूसरों के लिए।
  • चीटियों के विकास के 4 चरण होते है : (1) अंडे (egg) (2) लार्वा (larva) (3) प्यूपा (pupa) (4) व्यस्क (adult). लार्वा (larva) चरण में जो पोषण और देखभाल प्राप्त होती है, वही उसका व्यस्क रूप का निर्धारण करते है। जिन लार्वा (larva) को अच्छा पोषण मिलता है, उनमें पंखों का विकास होता है और वे रानी चींटियाँ (Queen Ants) बनती है।
  • बुलेट चींटी (bullet ant) का डंक किसी भी कीटों में सबसे दर्दनाक होता है। इसके विष से भरे डंक का असर 24 घंटे तक रह सकता है। इसकी तुलना 240 वाल्ट सॉकेट में अपनी उंगली डालने से की गई है।
  • Slave Making Ant ऐसी चींटियाँ है, जो चींटियों की अन्य कॉलोनी से अंडे चुराती है और उन अंडों से निकले बच्चों को अपना दास बना लेती है।
  • बुलेट चींटी (Bullet Ant) का डंक इतना तीव्र होता है कि ये एक Tarantula को Paralyse कर देता है।
  • मध्य और दक्षिण अमेरिका में पाई जाने वाली आर्मी चीटियाँ (Army Ants) बिलों में नहीं रहती है। ये चींटियाँ हमेशा चलती रहती है।

चींटियों के बारे में रोचक तथ्य - Facts About Ants In Hindi

  • मनुष्यों के अलावा, चींटियां एकमात्र प्राणी है जो अन्य प्राणियों की खेती करेंगी। जैसे ही हम खाद्य स्रोत प्राप्त करने के लिए गायों, भेड़, सूअर, चिकन और मछली उठाते है, चींटियां अन्य कीड़ों के साथ भी वही करती है। ऐसा इसलिए नहीं है क्योंकि वे लालची है। उनके पेट में से एक अपने खपत के लिए खाना पकाने के लिए है, जबकि दूसरा व्यक्ति अन्य चींटियों के साथ भोजन साझा करने के लिए है ।
  • हार्वर्ड और फ्लोरिडा राज्य विश्वविद्यालयों के एक अध्ययन से पता चला कि चींटियां लगभग 130 मिलियन वर्ष पहले आयी क्रेटेसियस-तृतीयक जैसी त्रासदी से बच गए थे, जिसने डायनासोर के साथ-साथ बर्फ को भी मार दिया था।
  • रात में मजदूर चींटियां अंडे और लार्वा को घोंसले में ठंड से बचाने के लिए घूमती है। दिन के दौरान, कार्यकर्ता चींटियां कॉलोनी के अंडे और लार्वा को घोंसले के शीर्ष तक ले जाती है ताकि वे गर्म हो सकें।
  • केवल रानी चींटियाँ ही प्रजनन में सक्षम होती है। इनकी मुख्य भूमिका हजारों अंडे देने की है, जिससे उनकी कॉलोनी मजबूत और शक्तिशाली बनी रहे।
  • नर चींटी का मुख्य कार्य मात्र रानी चींटी से संभोग करना होता है। उसके बाद ये अधिक दिनों तक जीवित नहीं रहते।
  • एक बार जब एक रानी चींटी संभोग करती है, तो उसके पंख झड़ जाते है।
  • चींटियों की कॉलोनी में काम करने वाली सभी श्रमिक चींटियाँ मादा होती है। ये सभी मादा चींटियाँ बाँझ (Sterile) होती है और प्रजनन में कोई योगदान नहीं देती।
  • चींटियों की कॉलोनी में 20% चींटियाँ ऐसी होती है, जो कुछ काम नहीं करती।
  •  जिन लार्वा को भोजन के श्रोत कम होने के कारण पर्याप्त पोषण नहीं मिल पाता, वे कार्यकर्त्ता चींटियों (worker ants) में विकसित होते है। कार्यकर्त्ता चींटियों (worker ant) के पंख नहीं होते।
  • चींटियों की कॉलोनी में 3 प्रकार की चींटियाँ होती है, रानी चींटी (queen ant), मादा श्रमिक (female workers) और नर चींटी (male ant).
  • रानी चींटी का आकार अन्य चींटियों की तुलना में बड़ा होता है।
  • मादा श्रमिक चींटियाँ अपने बिलों से 200 मीटर तक लंबी यात्रा कर सकती है। छोटे आकार के जीव के लिए यह एक लंबी दूरी है।
  • “सुपर कॉलोनी” (Super Colony) चींटियों की विशाल कॉलोनी होती है। इसमें 300 मिलियन तक चींटियां रहती है।
  • दुनिया की सबसे बड़ी चींटी कॉलोनी दक्षिणी कैलिफोर्निया (Southern California) में है, जो 600 मील तक फैली हुई है।
  • वैज्ञानिक मानते है की 40,000 चींटियों के दिमाग को अगर हम एक साथ जोड़ दें तो वह एक इंसानी दिमाग के ही तरह काम कर सकता है।
  • चींटियों की विभिन्न प्रजातियों की संख्या लगभग 12,000 मानी जाती है।
  • चींटी अपने आकार के संबंध में दुनिया के सबसे मजबूत प्राणी में से एक है।
  • एक चींटी प्रजाति दुनिया में सबसे विषम कीट है।
  • दुनिया के कई हिस्सों में, चींटियों को मनुष्यों द्वारा एक स्वादिष्टता के रूप में खाया जाता है।
  • चींटियों की दृष्टिक्षमता मात्र 1-2 फ़ीट तक ही होती है। ऐसा इसलिए है, क्योंकि चींटियाँ आने आस-पास देखने के लिए अपनी आँखों का बहुत ज्यादा इस्तेमाल नहीं करती। अपने सिर पर लगे एंटीना से ये चीज़ों को महसूस कर खोज लेती है और ख़तरों को भांप लेती है। इनकी आँखों में कई छोटे लेंस लगे होते है, जिनके कारण ये एक साथ हर दिशा में देखने में सक्षम होती है। वैसे कई चींटियाँ ऐसी भी होती है, जो पूरी तरह अंधी होती है।
  • चींटियों के फेफड़े (lungs) नहीं पाए जाते। उनके शरीर में छोटे-छोटे छिद्र होते है, जिनसे ऑक्सीजन प्रवेश करती है और कार्बन डाइऑक्साइड उत्सर्जित होती है।

Interesting Ants Facts In Hindi

  • सभी चींटियों के पंख नहीं होते। केवल नर और रानी चींटियों के पंख होते है।
  • 6 इंच लंबे पंखों वाली एक प्रागैतिहासिक चींटी की भी खोज की गई थी, जिसे टाइटेनोमाइरा गिगेंटम (Titanomymra Giganteum) के नाम से जाना जाता है। यह अब तक अस्तित्व में पाई गई सबसे बड़ी चींटी है।
  • ब्लैक गार्डन चींटी (Black Garden Ant) का जीवनकाल (15 वर्ष) कुत्ते की तुलना में अधिक होता है।
  • दुनिया की सबसे खतरनाक चींटी ऑस्ट्रेलियाई बुलडॉग चींटी (Australian Bulldog Ant) है। इसके कारण 1930 के दशक के बाद से 3 मौतें हो चुकी है।
  • दुनिया मे अबतक लगभग चीटियों की दो हजार से ज्‍यादा प्रजातियां है।
  • सबसे बड़ी चीटी अफ्रीका में पाई जाती है, जिसकी लंबाई तीन सेंटीमीटर त‍क होती है।
  • अपने छोटे आकार के कारण, चींटियों में हमारे जैसे जटिल श्वसन प्रणाली को समायोजित करने के लिए कमरा नहीं होता है। इसके बजाए, उनके शरीर के चारों ओर ऑक्सीजन परिवहन में मदद करने के लिए श्वसन के अपने तरीके होते है।
  • कुछ अमेज़ॅन चींटियों क्लोनिंग के माध्यम से पुनरुत्पादन करती है। यह बताया गया है कि रानी चींटियां खुद को आनुवांशिक रूप से बेटियों का उत्पादन करने के लिए प्रतिलिपि बनाती है।
  • पृथ्वी पर सभी चींटियों का कुल बायोमास लगभग पृथ्वी पर या उससे भी अधिक लोगों के कुल बायोमास के बराबर है।
  • टी. गिगांटेम लगभग 2.4 इंच (6 सेमी) लंबी थी, और ऐसा लगता है कि इसमें लगभग छः इंच का पंख था। तुलना के लिए, वर्तमान चींटी प्रजातियों का औसत आकार केवल 0.8 से 1 इंच (.2 से 2.5 सेमी) होता है।
  • जब कॉलोनी की रानी मर जाती है, तो कॉलोनी केवल कुछ महीनों तक जीवित रह सकती है।
  • अब तक की सबसे बड़ी चींटी कॉलोनी 6000 किलोमीटर या 3750 मील चौड़ी थी।
  • चींटियाँ कीट समूह हाइमनोप्टेरा (insect group Hymenoptera) से संबंधित है, जिसमें ततैया (wasps) और मधुमक्खियां (bees) भी शामिल है।
  • पृथ्वी पर चींटियों का अस्तित्व लगभग 130 मिलियन वर्षों से है।
  • रानी चींटियाँ (Ants) तीन दशक तक जीवित रह सकती है। यह पृथ्वी पर किसी भी कीट (insect) का सबसे लंबा जीवनकाल है।
  • रानी चींटी की मृत्यु के बाद कॉलोनी की बाकी चींटियाँ अधिक समय तक ज़िन्दा नहीं रहती। वे भी कुछ महीनों में मर जाती है।
  • शरीर की बनावट और वजन के कारण ऊँची बिल्डिंग या हवाईजहाज़ से फेंकने पर भी चींटियों को चोट नहीं लगती।
  • चींटियों को अक्सर एक कतार में चलते हुए देखा जाता है। ऐसा वे इसलिए कर पाती है, क्योंकि चलते हुए ये चींटियाँ फेरोमोंस (Pheromones) नामक रसायन स्त्रावित करती है, जिसकी गंध को सूंघते हुए पीछे की चींटी आगे चलने वाली चींटी का अनुसरण करती है और इस तरह एक कतार बन जाती है।
  • दुनिया की सबसे बड़ी चींटी बुलेट चींटी (bullet ant) है, जो पनामा जंगल (Panama Forest) में पाई जाती है। इनके critters 1.6 इंच तक बढ़ सकते है।
  • अमेज़ॅन वर्षावन (Amazon Rainforest) में फायर चींटी (Fire Ant) अपने पैरों को एक साथ जोड़कर बेड़े जैसा आकार ले लेती है। यह उन्हें नदियों में तैरने और जंगल में यात्रा करने में सहायता करता है।
  • फायर चींटी (Fire Ant) लगभग 9 घंटे/ प्रति दिन सोती है।
  • लीफकटर चींटियाँ (Leafcutter Ants) के शरीर से एक एंटीबायोटिक स्त्रावित होता है, जो मशरूम की खेती में सहायक है।
  • वैज्ञानिकों का कहना है कि चींटियों के अंदर 2,50,000 से भी ज्यादा दिमाग के कोशिकाएं होती है।
दोस्तों उम्मीद है कि आपको हमारी यह पोस्ट Crazy Information & Facts About Ants in Hindi पोस्ट पसंद आयी होगी। अगर आपको हमरी यह पोस्ट पसंद आयी है तो आप इससे अपने Friends के साथ शेयर जरूर करे और हमें Subscribe कर ले। ता जो आपको हमारी Latest पोस्ट के Updates मिलते रहे। दोस्तों अगर आपको हमारी यह साइट FactsCrush.Com पसंद आयी है तो आप इसे bookmark भी कर ले।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ