20+ Amazing Facts About Indian Constitution In Hindi

Constituion Facts in Hindi - भारत का संविधान भारत का सर्वोच्च कानून है। आप सभी को यह पता ही होगा कि भारत का संविधान दुनिया का सबसे बड़ा संविधान है। पर क्या आपको पता है कि भारतीय संविधान से जुड़े कुछ ओर ऐसे ही ख़ास तथ्य और बातें हैं जो आप नहीं जानते होंगे। तो चलिए आज हम आपको कुछ Amazing Facts About Indian Constitution In Hindi में बताते है।
[20+] Amazing Facts About Indian Constitution In Hindi

भारतीय संविधान से जुड़े ख़ास तथ्य - Facts About Indian Constitution

  • भारत का संविधान, भारत का सर्वोच्च विधान है जो संविधान सभा द्वारा 26 नवम्बर 1949 को पारित हुआ तथा 26 जनवरी 1950 से प्रभावी हुआ। यह दिन (26 नवम्बर) भारत के संविधान दिवस के रूप में घोषित किया गया है। जबकि 26 जनवरी का दिन भारत में गणतन्त्र दिवस के रूप में मनाया जाता है।
  • भारत का संविधान विश्व के किसी भी गणतांत्रिक देश का सबसे लंबा लिखित संविधान है।
  • भारतीय संविधान सभा के लिए जुलाई 1946 में चुनाव हुए थे। संविधान सभा की पहली बैठक दिसंबर 1946 को हुई थी। इसके तत्काल बाद देश दो हिस्सों - भारत और पाकिस्तान में बंट गया था। संविधान सभा भी दो हिस्सो में बंट गई- भारत की संविधान सभा और पाकिस्तान की संविधान सभा।
  • भारतीय संविधान लिखने वाली सभा में 299 सदस्य थे। जिसके अध्यक्ष डॉ. राजेन्द्र प्रसाद थे। संविधान सभा ने 26 नवम्बर 1949 में अपना काम पूरा कर लिया और 26 जनवरी 1950 को यह संविधान लागू हुआ। इसी दिन कि याद में हम हर वर्ष 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते हैं। भारतीय संविधान को पूर्ण रूप से तैयार करने में 2 वर्ष, 11 माह, 18 दिन का समय लगा था।

Interesting Facts About Indian Constitution In Hindi

  • भारतीय संविधान में वर्तमान समय में भी केवल 470 अनुच्छेद, तथा 12 अनुसूचियां हैं और ये 25 भागों में विभाजित है। परन्तु इसके निर्माण के समय मूल संविधान में 395 अनुच्छेद जो 22 भागों में विभाजित थे इसमें केवल 8 अनुसूचियां थीं।
  • जवाहरलाल नेहरू, डॉ भीमराव अम्बेडकर, डॉ राजेन्द्र प्रसाद, सरदार वल्लभ भाई पटेल, मौलाना अबुल कलाम आजाद आदि संविधान सभा के प्रमुख सदस्य थे।
  • भारतीय संविधान के प्रस्तावना के अनुसार भारत एक सम्प्रुभतासम्पन्न, समाजवादी, पंथनिरपेक्ष, लोकतांत्रिक, गणराज्य है।
  • भारतीय संविधान बनने के पहले भारत ब्रिटिश सरकार द्वारा बनाया हुआ गवनज़्मेंट ऑफ इंडिया एक्ट 1935 मानता था।
  • मूल संविधान हस्तलिखित है। जिसमें शान्तिनिकेतन के कलाकारों द्वारा प्रत्येक पृष्ठ को अनोखे ढंग से सजाया गया है। इन कलाकारों में राममनोहर सिन्हा और नंदलाल बोस शामिल हैं। 
  • हिंदी और अंग्रेजी में लिखी गई। भारतीय संविधान की मूल प्रतियों को भारत की संसद की लाइब्रेरी में विशेष हीलियम से भरे केस में रखा गया है। ताकि लम्बे समय तक सुरक्षित रहें।
  • भारतीय सरकार द्वारा दिए जाने वाले पुरस्कार जैसे कि भारत रत्न, पदम भूषण, कीति चक्र आदि गणतंत्र दिवस के दिन ही दिए जाते हैं।
  • भारतीय संविधान में ऐसा नियम है। कि गणतंत्र दिवस के मौके पर राष्ट्रपति व स्वतंत्रता दिवस के मौके पर प्रधानमंत्री देश को संबोधित (संबोधन) करेंगे।
  • 1961 के गणतंत्र दिवस पर होने वाले समारोह में ब्रिटेन की रानी क्वीन एलिजाबेथ भारत की मुख्य अतिथि थीं।
  • संविधान सभा, स्वतंत्र भारत की पहली संसद थी। डॉ। सच्चिदानंद सिन्हा संविधान सभा के पहले अध्यक्ष (अस्थायी अध्यक्ष) थे। इस संविधान सभा की पहली बैठक 9 दिसंबर 1946 को हुई थी।

Information About Indian Constitution In Hindi

  • संविधान निर्माताओं ने लगभग 60 देशों के संविधानों का अवलोकन किया था और जिस संविधान में जो प्रावधान भारत के लिए सर्वश्रेष्ठ लगा उसे भारत के संविधान में शामिल कर लिया गया था।
  • एक ईसाई गीत Abide With Me गणतन्त्र दिवस की परेड में बजाया जाता है। ऐसा कहा जाता है कि ये महात्मा गांधी के पसंदीदा गीतों में से एक था।
  • हमारे नेताओं ने अन्य देशों के अच्छे नजरियों को अपनाया है। जैसे कि सत्ता को केन्द्र व राज्य में बांटना कनाडियन संविधान से लिया गया है, वहीं फंडामेंटल ड्यूटी सोवियत संघ से ली गई है। डॉरेक्टोरियल इलिमेंटस् आयलैंड के संविधान से लिए गए हैं। संविधान बनने के पहले भारत ब्रिटिश सरकार द्वारा बनाया हुआ एक्ट 1935 मानता था।
  • संविधान के निर्माण पर कुल 64 लाख रुपये का खर्च आया था।
  • संविधान सभा कुल 11 सत्रों के लिए बैठी थी। संविधान सभा का 11 वां सत्र 14-26 नवंबर 1949 के बीच आयोजित किया गया था। 26 नवंबर 1949 को संविधान का अंतिम ड्राफ्ट तैयार हुआ था।
  • भारत के मूल संविधान को 'प्रेम बिहारी नारायण रायज़ादा' ने सुंदर सुलेख के साथ इटैलिक शैली में लिखा था।
  • जब संविधान का मसौदा (Draft) तैयार किया गया था और बहस और चर्चा के लिए रखा गया था, तो अंतिम रूप देने से पहले इसमें 2000 से अधिक संशोधन किए गए थे।
  • भारतीय संविधान का प्रकाशन देहरादून में किया गया था और सर्वे ऑफ़ इंडिया द्वारा फोटोलिथोग्राफ किया गया था।
दोस्तों उम्मीद है कि आपको हमारी यह पोस्ट Amazing Facts About Indian Constitution In Hindi पोस्ट पसंद आयी होगी। अगर आपको हमरी यह पोस्ट पसंद आयी है तो आप इससे अपने Friends के साथ शेयर जरूर करे और हमें Subscribe कर ले। ता जो आपको हमारी Latest पोस्ट के Updates मिलते रहे। दोस्तों अगर आपको हमारी यह साइट FactsCrush.com पसंद आयी है तो आप इसे bookmark भी कर ले।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ