60+ Information & Facts About Turtle in Hindi

Facts About Turtle In Hindi : दोस्तों आज मैं आपको कछुए के बारे में कुछ खास जानकारी दुंगा। दोस्तों आप सभी ने कछुए को तो देखा ही होगा पर क्या आप इस से जुड़ी हर बात जानते हो अगर नहीं तो चलिए जानते है।
कछुए (Turtles) या कूर्म टेस्टूडनीज़ नामक सरीसृपों के जीववैज्ञानिक गण के सदस्य होते है। जो उनके शरीरों के मुख्य भाग को उनकी पसलियों से विकसित हुए ढाल-जैसे कवच से पहचाने जाते हैं। कछुए को दो भागों में बाटा जा सकता है - स्थलीय कछुए और जलीय कछुए। विश्व में स्थलीय कछुओं और जलीय कछुओं दोनों की कई जातियाँ है।
कछुओं की सबसे पहली जातियाँ आज से 15.7 करोड़ वर्ष पहले उत्पन्न हुई थीं, जो की सर्वप्रथम सर्पों व मगरमच्छों से भी पहले था। इसलिये वैज्ञानिक उन्हें प्राचीनतम सरीसृपों में से एक मानते हैं। कछुओं की कई जातियाँ विलुप्त हो चुकी है लेकिन 327 आज भी मौजूद है। तो चलिए अब हम आपको कछुए के बारे में कुछ रोचक तथ्य (Facts About Turtle In Hindi) बताते है।
60+ Information & Facts About Turtle in Hindi

कछुए के बारे में कुछ रोचक तथ्य - Facts About Turtle In Hindi

  • अंटार्कटिका को छोड़कर ये लगभग उन सभी महाद्वीपों पर रहते है जिनका तापमान इनके प्रजनन के लिए पर्याप्त गर्म हो।
  • Hawksbill नाम का एक समुद्री कछुआ सिर्फ ऐसे जीवों को खाता है जो की जहरीले होते है।
  • कछुए अपने खोल से बाहर नही निकल सकते क्योंकि यह उनके शरीर से जुड़ा हुआ होता है और शरीर के साथ ही बढ़ता है।
  • कुछ कछुए मांसाहारी होते है, तो कुछ शाकाहारी और कुछ सर्वाहारी भी होते है जो की मांस और पौधे कुछ भी खा सकते है। कई बार कछुओं के बच्चे मांसाहारी के रूप में जीवन शुरू करते है, लेकिन बड़े होने के बाद पौधे खाना शुरू कर देते है।
  • कछुओं की 318 से ज्यादा प्रजातियाँ इस धरती पर मौजूद है इनमें से कुछ थल पर और कुछ जल में रहती है, बहुत-सी प्रजातियाँ विलुप्ति की कगार पर है।
  • कछुए जहरीले नही होते और ना ही इनके काटने पर जहर निकलता है और ना ही इन्हें खाते समय।
  • कछुओ के लिंग का पता लगाना इतना आसान भी नही है, जितना आप सोचते है। इनकी छाती का कवच सबसे आसान तरीका है नर और मादा की पहचान करने के लिए, अक्सर नर कछुए मादा से थोड़े लंबे और इनकी पूँछ भी मादा से लंबी ही होती है।
  • कुछ खास तरह के कछुए अपने पिछवाड़े (butts) से भी सांस ले सकते है।

Facts About Turtle For Kids In Hindi

  • समुद्री कछुआ का कवच सेंसेटिव होता है वो यहाँ से हर रगड़ और खरोंच को महसूस कर सकते है।
  • कुछ कछुए 150 या उससे ज्यादा साल तक जीवित रह सकते है। एक ‘Harriet’ नाम का कछुआ, जिसकी देखभाल ‘Charles Darwin’ (इंसान को बंदर की औलाद बताने वाला) द्वारा 1835 में की गई थी उसकी मौत 2006 में australia के चिड़ियाघर में हुई। मरते समय इसकी उम्र 175 साल रही होगी।
  • प्राचीन रोमन मिलिट्री, कछुओं से बहुत प्रभावित हुई थी, कछुओं से ही उन्होनें लाइनें बनाना और ढाल को सिर के ऊपर रखना सीखा ताकि दुश्मन से सुरक्षित रहा जाए।
  • कछुए अंडो के सहारे नए बच्चे पैदा करते है। मादा कछुए पहले मिट्टी खोदते है फिर वहाँ एक बार में 1 से 30 अंडे देते है, अंडो से बच्चे निकलने में 90 से 120 दिन लग जाते है।
  • कछुओं के मुंह में दाँत नही होते, बल्कि एक तीखी प्लेट की तरह हड्डी का पट्ट होता है जो भोजन चबाने में इनकी सहायता करता है।
  • कछुआ अंतरिक्ष में जाने वाले पहले जीवित प्राणियों में से एक है। सन 1968 में, सोवियत संघ ने दो कछुओं सहित कई जानवरों के साथ एक अंतरिक्ष यात्रा शुरू की। अंतरिक्ष में एक सप्ताह बिता कर लौटने के बाद देखा गया की इन दोनों कछुओं के शरीर का वजन 10% कम हो गया था।
  • अगर कछुए के दिमाग को इसके शरीर से अलग कर दिया जाए तो भी ये 6 महीने तक जीवित रह सकते है।
  • कछुए के खोल (शेल) में 60 हड्डियाँ होती है जो एक दुसरे से जुड़े होते है।

Facts About Tortoise In Hindi

  • कछुए के शरीर के वजन का 40% भाग पानी होता है, दरअसल रेगिस्तानी कछुए बरसात के दिनों या अलग-अलग जल स्त्रोतों से भारी मात्रा में पानी पी कर स्टोर कर लेते है ताकि सूखे के दिनों में यह काम आ सके।
  • कछुए के मुंह बेहद मजबूत होते है लेकिन उनके दांत नहीं होते है।
  • कछुए का खोल कठोर होने के कारण ये अन्य जानवरों और मनुष्यों की तरह सांस लेने के लिए अपनी छाती नही फुला सकते, इसलिए कछुओं में मांसपेशियों का एक विशेष समूह विकसित होता है जो उन्हें साँस लेने में सहायता करता है।
  • अभी धरती पर जो सबसे ज्यादा उम्र का जीवित प्राणी है वो एक ‘Jonathan’ नाम का कछुआ है। जब ये 50 साल का था तब ‘Saint Helena’ के गवर्नर को अफ्रीका के एक छोटे से टापू की तरफ से गिफ्ट में मिला था। आज यह 187 साल का है और स्वस्थ हालत में है, इसकी लंबाई 45 इंच और ऊंचाई 2 फीट है। ये यहाँ इतना प्रसिद्ध है कि सेंट हेलिना के 5 सेंट के सिक्के के पिछले भाग पर इसकी तस्वीर है।
  • गैलापागोस प्रजाति का कछुआ पक्षियों का शिकार भी करता है। इसके लिए वह पक्षियों को अपने खोल के नीचे खींचकर दबा देता है और उसे अपने वजन से कुचल देता है।

Information About Turtle In Hindi

  • आपको जानकर हैरानी होगी की Giant tortoise का वैज्ञानिक नाम तय होने में 300 साल लग गये थे। ऐसा इसलिए क्योंकि इनका मांस बहुत ही स्वादिष्ट होता था और जब भी सैंपल के लिए कोई कछुआ यूरोप भेजा जाता था। लोग उसे रास्ते में ही मारकर खा जाते थे।
  • कछुए लंबे समय तक अपनी सांस रोक सकते है। यही कारण है की वे अपने शेल के अंदर इतने लंबे समय तक रह लेते है।
  • इनका खून ठंडा होता है और माना जाता है की ठंडे खून वाले प्राणी का जीवनकाल बहुत लम्बा होता है।
  • अगर आप कछुआ पकड़ना चाहते है तो इसे अपने दोनों हांथों से ही पकड़ें, एक हाँथ इसके शरीर के नीचे जरुर रखें क्योंकि ये अपने नीचे हवा महसूस करने पर डर जाते है।
  • इनकी देखने और सुनने की क्षमता बहुत अधिक होती है।
  • आसपास के गंध को सूंघने के लिए ये अपने गले का उपयोग करते है।
  • कछुए की कई प्रजातियां लुप्तप्राय हो चुकी है। आंकड़ों के अनुसार आज पृथ्वी पर कछुओं की लगभग 300 प्रजातियों में से 129 असुरक्षित या लुप्तप्राय हो चुके है।
  • जमीन पर रहेने वाले कछुए शाकाहारी होते है वही पानी में रहेने वाले कछुए मछली खाकर अपना गुजारा करते है।
  • कछुए का कवच बहोत ही मजबूत होता है। यह कवच गोली, कुत्ते, और मगरमच्छ का भी सामना कर सकता है।
  • कछुओ को अपने कवच में छुपने से पहले फेफड़ो को खाली करना पड़ता है, छिपने से पहले आप उन्हें साँस छोड़ते हुए सुन सकते है।
  • कछुए ठंडे खून वाले जीव है, ठंड में इनका शरीर जम जाता है और ये शीतनिंद्रा में चले जाते है।

Interesting Facts About Turtle In Hindi

  • कछुए बहुत धीमी गति से चलते है। ये धरती पर चौथे सबसे slow animal है लगभग सभी कछुए 270 मीटर प्रति घंटा (6.4km/day) की रफ्तार से चलते है। “गिनिज़ बुक ऑफ वर्ल्ड रिकाॅर्डस” के अनुसार, अब तक किसी कछुए की अधिकत्तम स्पीड 11 इंच प्रति सेकंड यानि 1 किलोमीटर प्रति घंटा दर्ज की गई है।
  • कछुए पिछले 20 करोड़ सालों से धरती पर रह रहे है। वैज्ञानिकों को इनका जो आखिरी जीवाश्म मिला है वह 12 करोड़ साल पुराना है। ये साँप, छिपकली, मगरमच्छ और पक्षियों से पहले धरती पर आए थे।
  • हर साल 23 मई को विश्व कछुआ दिवस मनाया जाता है। एक tortoise, turtle होता है लेकिन turle, tortoise नही होता। सभी रेंगने वाले और कवच वाले जीव, जो cheloni परिवार से संबंध रखते है उन्हें turtle कहते है और स्थलीय कछुआ को tortoise कहते है।
  • कछुए जितने गर्म मौसम में रहेंगे उनके कवच का रंग उतना ही हल्का होगा। जिन कछुओं के कवच का रंग गहरा होता है वो उतने ही ठंडे इलाके में रहते है।
  • कछुए सिर्फ सेक्स करते समय ही फुफ-कार जैसी आवाज निकालते है वैसे आम तौर पर कोई आवाज नही निकालते। ‘जुरासिक पार्क’ फिल्म में जो डायनासोरों की आवाज है वो असल में कछुओं की सेक्स करते समय निकलने वाली आवाज है।
  • कछुए का कवच कोई वस्तु नही है जो वो अपने शरीर पर रखकर चलते है बल्कि ये इनके शरीर का एक हिस्सा है जो नसों से जुड़ा होता है। शरीर के साथ-साथ इनके कवच का भी विकास होता है। जिस तरह इंसान के शरीर से रीढ्ढ की हड्डी को अलग नही किया जा सकता उसी तरह बिना मारे कछुओं के कवच को भी अलग नही कर सकते।
  • कछुए का वैज्ञानिक नाम Testudinidae है।
  • कुछ उष्णकटिबंधीय द्वीपों में विशालकाय कछुए भी पाए जाते है जिन्हें Giant Tortoise कहा जाता है। इनकी ऊंचाई 6 फीट और चौड़ाई 4 से 5 फीट तक हो सकती है। यही नही इनका वजन 400 किलो से भी अधिक हो सकता है।
दोस्तों उम्मीद है कि आपको हमारी यह पोस्ट Amazing Information & Facts About Spiders In Hindi पोस्ट पसंद आयी होगी। अगर आपको हमरी यह पोस्ट पसंद आयी है तो आप इससे अपने Friends के साथ शेयर जरूर करे और हमें Subscribe कर ले। ता जो आपको हमारी Latest पोस्ट के Updates मिलते रहे। दोस्तों अगर आपको हमारी यह साइट FactsCrush.Com पसंद आयी है तो आप इसे bookmark भी कर ले।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ