[100+] Amazing Facts About Dolphin In Hindi

Dolphin Facts in Hindi - सूंस (डॉल्फिन) समुद्री स्तनधारी जीव है। इनके 17 वंश और 40 प्रजातियां हैं। ये विश्व भर में पाई जाती हैं, खास तौर पर महाद्वीपीय जलसीमा के उथले सागरीय क्षेत्रों में। ये मांसाहारी होती हैं और छोटी मछलियों और विद्रूपों को खाती हैं। डॉल्फिन का प्रादुर्भाव पृथ्वी पर लगभग 1 करोड़ वर्ष पहले मियोसीन काल के दौरान हुआ था। सूंस (डॉल्फ़िन) पृथ्वी के कुछ सबसे अधिक बुद्धिमान जीवों में से एक है और उनके अक्सर दोस्ताना व्यवहार और हमेशा खुश रहने की आदत ने उन्हें मानवो के बीच खासा लोकप्रिय बना दिया है। गंगा नदी में पायी जाने वाली सूंस (डॉल्फिन) को भारत सरकार ने भारत का राष्ट्रीय जलीय जीव घोषित किया है। तो चलिए अब हम आपको सूंस (डॉल्फिन) के बारे में रोचक तथ्य और बातें (Unbelievable Facts About Dolphin In Hindi) बताते है।
[100+] Amazing Facts About Dolphin In Hindi

Interesting Dolphin Facts And Information In Hindi 

  • भारत में वर्ष 2009 में डॉल्फिन को ‘राष्ट्रीय जलीय जीव’ घोषित किया गया है।
  • डॉल्फिन की लगभग 43 प्रजातिया पाई जाती है, इनमें से करीब 38 प्रजातिया समुद्र में और बाकि की 5 प्रजातिया नदियों में पाई जाती है।
  • डॉल्फ़िन केवल तभी काटती है, जब वे उग्र, क्रोधित, निराश, चिंतित या भयभीत होती है।
  • डॉल्फिन इंसानों से 10 गुना ज्यादा सुन सकती है।
  • डॉल्फ़िन के लिए सबसे बड़ा खतरा great white shark, tiger shark, dusky shark और bull shark है।
  • डॉल्फ़िन के दो पेट होते है – एक भोजन के भंडारण के लिए और दूसरा पाचन के लिए।
  • डॉल्फिन टेलिफोन पर एक दूसरे से बातचीत कर सकती है और पता लगा सकती है कि सामने फोन पर कौन है जैसे कि उसका बेटा या कोई ओर।
  • पशु साम्राज्य में डॉल्फ़िन की स्मृति सबसे अच्छी मानी जाती है।
  • डॉल्फ़िन की श्रवण प्रणाली इतनी परिष्कृत और उन्नत है कि एक अंधी डॉल्फ़िन भी आसानी से लंबे समय तक जीवित रह जाती है।
  • डॉल्फिन की लम्बाई करीब 32 फीट तक की होती है और ज्यादा से ज्यादा वजन करीब 6 टन तक का होता है।
  • डॉल्फ़िन समूह में रहना पसंद करती है। इनके समूह को ‘pod’ कहते है। एक pod में लगभग 12 डॉल्फिन होती है। जब pod का समूह बहुतायत में खाद्य पदार्थ के लिए एकत्रित होते है, तो इनकी संख्या 1,000 तक पहुँच जाती है, जिसे ‘superpod’ कहा जाता है।
  • डॉल्फिन पानी के ऊपर करीब 20 फीट तक छलांग लगा सकती है।
  • डॉल्फिन की सुनने और सूंघने की क्षमता इन्सानों से 10 गुना ज्यादा होती है। लेकिन इसको बदबू और खुश्बू के बिच का अंतर नहीं पता चलता।
  • डॉल्फिन को इन्सानों का दोस्त भी कहा जाता है और यह इन्सानों के साथ बहुत ही जल्दी घुल-मिल जाती है।
  • डॉल्फिन आवाज और सीटियो द्वारा दूसरी डॉल्फिन के साथ बात करती है।
  • डॉल्फिन करीब 20 मिनिट तक पानी के अंदर रह सकती है पर उसको साँस लेने के लिए ऊपर आना पड़ता है।
  • भारत में डॉल्फ़िन नदी में पाई जाती है। इसे ‘गंगा का बाघ’ कहा जाता है। लेकिन अब वह विलुप्ति के कगार पर है। ये अब लगभग 2000 के आस-पास शेष है। प्रदूषण, बांधों का निर्माण और शिकार इनकी विलुप्ति का कारण है।
  • सबसे छोटी डॉल्फिन 40 किलो की और सबसे बड़ी डॉल्फिन 9,000 किलो की है।
  • डॉल्फिन खुद को शीशे में पहचान सकती है।
  • इन 5 प्रजातियों में से गंगा नदी डॉल्फिन और सिन्धु नदी डॉल्फिन की प्रजातीया गंगा और सिंधु नदी में रहेती है जो भारत, पाकिस्तान, नेपाल और बांग्लादेश में पाई जाती है।

डॉल्फिन के बारे में जानकारी - Facts About Dolphin In Hindi

  • गंगा नदी में रहेने वाली गंगा डॉल्फिन भारत का राष्ट्रिय जलीय प्राणी है। भारत की केंद्र सरकार ने गंगा डॉल्फिन को 5 अक्टूबर 2009 को भारत का राष्ट्रिय जलीय जिव घोषित किया था। लेकिन अफ़सोस की बात तो यह है कि अब यह प्रजातीया विलुप्ति की कगार पर है।
  • डॉल्फिन का औसतन जीवनकाल करीब 15 साल का होता है हलाकि कुछ डॉल्फिन 50 साल तक भी जीवित रहती है।
  • अन्य प्राणियो की तरह डॉल्फिन की प्रजातिया भी आज खतरे में है। इसके पीछे हम इन्सान ही जिम्मेदार है।
  • डॉल्फ़िन बेहद चंचल और जिज्ञासु जीव है। वे एक-दूसरे के साथ खेलते है साथ ही उन्हें अन्य जानवरों जैसे कुत्तों या बिल्लियों के साथ खेलने के लिए भी जाना जाता है। ये इंसानों की तरह लहरों में खेलने और सर्फिंग का आनंद भी लेती है।
  • डॉल्फ़िन भोजन खोजने और पानी में नेविगेट करने के लिए इकोलोकेशन सोनार पद्धति का उपयोग करते है। ये ध्वनि तरगें उत्सर्जित करती है और उनकी इको (eco) से किसी भी object को locate करती है। इस तरह से उनका शिकार को ढूंढना और पानी में तैरना आसान हो जाता है।
  • जानवरों में सबसे लंबी याददाशत डॉल्फिन की ही होती है।
  • डॉल्फिन की उम्र 15 साल होती है, कुछ प्रजातियाँ 50 साल तक भी जिंदा रहती है।
  • डॉल्फ़िन अपनी एक आँख खोलकर सोती है। नींद में भी वे सचेत रहती है और शार्क जैसे शिकारी जीवों से अपनी रक्षा कर पाती है।
  • अधिकांश जीव प्रजनन के लिए संभोग करते है। लेकिन डॉल्फिन ऐसे जीव है, जो इंसानों की तरह अपने आनंद के लिए भी संभोग करते है।
  • डॉल्फ़िन में सेवा भावना भी पाई जाती है। वे लंबे समय तक बीमार और घायल साथियों के साथ रहती है और उनकी देखभाल करती है।
  • अधिकारिक रिकॉर्ड अनुसार सबसे लंबे समय तक जीवित रहने वाली डॉल्फिन ‘नेली’ थी, जिसे फ्लोरिडा के मारिनलैंड के डॉल्फिन एडवेंचर में रखा गया था। वह 61 वर्ष तक जीवित रही थी।
  • सबसे कम समय तक जीवित रहने वाली डॉल्फिन ‘नाना’ थी। वह 42 वर्ष तक जीवित रही थीं.
  • डॉल्फिन एक-दूसरे को नाम देती है तथा अन्य डॉल्फिन को नाम से पहचानती है।
  • डॉल्फ़िन एक चार-पैर वाले स्थलीय जानवर से विकसित हुई है, जिसने लगभग 50 मिलियन साल पहले पानी में अधिक समय बिताना शुरू कर दिया था।
  • “डॉल्फ़िन” (dolphin) नाम ग्रीक शब्दों “डेल्फ़िस” (delphis) और “डेल्फ़स” (delphus) से आया है, जिसका अर्थ है: fish with a womb.
  • दुनिया में डॉल्फ़िन की लगभग 40 विभिन्न प्रजातियाँ है, जिनमें से सागरीय डॉल्फ़िन (oceanic dolphin) की सबसे ज्यादा 38, पर्पोइज़ डॉलफिन (porpoise dolphin) की 7 तथा नदी में रहने वाली डॉल्फिन (river dolphin) की 4 विभिन्न प्रजातियाँ है।
  • डॉल्फ़िन और पर्पोइज़ (porpoises) के बीच अंतर उनके शरीर के आकार, पंख और चेहरे में देखकर किया जा सकता है।
  • डॉल्फ़िन की त्वचा बहुत चिकनी होती है, जो तैरते समय खिंचाव को कम करने में सहायक है।
  • डॉल्फ़िन की अपनी त्वचा की बाहरी परत दिन में 12 बार (हर 2 घंटे में) झड़ा देती है।
  • डॉल्फिन और व्हेल जब बहुत ज्यादा खुश होती है तब वो चिल्लाने लगती है।

Interesting Facts About Dolphin In Hindi

  • डॉल्फिन अपनी त्वचा की ऊपरी परत्त को हर 2 घंटे में उतार देती है।
  • ब्रिटिश पानी में जितनी डॉल्फिन मौजूद है। उन सभी पर इंग्लैंड की महारानी का हक है।
  • डॉल्फिन समुंद्र का पानी नही पीती, क्योंकि ये इन्हें बीमार और यहाँ तक की मार भी सकता है, dolphin जो भोजन खाती है उसी से पानी की आपूर्ति कर लेती है।
  • डॉल्फिन पानी में 990ft. की गहराई तक जा सकती है और पानी से 20ft. ऊपर तक उछल सकती है।
  • यदि आपको कोई डॉल्फिन समुंद्र से बाहर बीच पर मिलती है तो उसे वापिस पानी में भेजने की कोशिश न करें। क्योंकि ये ऐसा बीमार होने पर डूबने से बचने के लिए करती है।
  • डॉल्फिन की त्वचा बहुत नाजुक होती है और इसे किसी भी तेज/धार वाली चीज़ों से आसानी से नुकसान पहुँच सकता है।
  • डॉल्फ़िन की सबसे आम प्रजाति – बॉटलनोज़ डॉल्फ़िन (bottlenose dolphin) – अंटार्कटिक और आर्कटिक महासागरों को छोड़कर दुनिया के सभी क्षेत्रों में पाई जाती है।
  • Amazon River Dolphin नाम की प्रजाति अमेज़न नदी में पाई जाती है इसको Pink River Dolphin या Boto भी कहा जाता है।
  • डॉल्फिन की कई प्रजातियों में 100 दांत भी होते है पर फिर भी वे उन दांतों का इस्तमाल खाना चबाने के लिए नहीं करती है बल्कि मछली को दबोच ने के लिए करती है और इसके बाद उस मछली को निगल जाती है।
  • डॉल्फ़िन की नाक मजबूत और मोटी हड्डी से बनी होती है। इसलिए ये इसका उपयोग शार्क को मारने के लिए करती है। इसके द्वारा शार्क के पेट के नीचे किया गया प्रहार शार्क के लिए घातक सिद्ध होता है।
  • भारत, हंगरी, कोस्टा रिका और चिली में डॉल्फ़िन को मनोरंजन प्रयोजनों के लिए पकड़ना और उपयोग करना वर्जित है। जैसा अक्सर उन्हें डॉल्फ़िनैरियम में रखकर किया जाता है।
  • डॉल्फ़िन में फेफड़े होते है और वे मनुष्यों की तरह सांस लेती है। लेकिन वे जमीन पर नहीं रह सकती। डॉल्फ़िन अपना शारीरिक तापमान रेगुलेट नहीं कर पाती। ऐसे में पानी के बाहर वे निर्जलित (dehydrated) हो जाती है और अत्यधिक गर्म (overheat) हो जाती है और उनकी जान जाने का ख़तरा रहता है।
  • डॉल्फ़िन प्रति दिन 8 घंटे सोती है, और बाकी दिन तैरती रहती है।
  • सभी डॉल्फिन सांस लेती है। वे साँस लेने के लिए ब्लोहोल्स का इस्तेमाल करती है, जो उनके सिर में स्थित होता है।
  • डॉल्फ़िन के द्वारा निकाले जाने वाली ध्वनि की रेंज बहुत विस्तृत है। इनकी ध्वनियों को मोटे तौर पर तीन श्रेणियों में बांटा जाता है : आवृत्ति संग्राहक सीटी, फट-स्पंदित ध्वनि और क्लिक (frequency modulated whistles, burst-pulsed sounds and clicks). क्लिक समुद्री जानवरों द्वारा निकाली जाने वाली सबसे ऊँची आवाज़ों में से एक है।
  • वैज्ञानिकों को अब तक यह समझ नहीं आया है कि डॉल्फिन पानी से बाहर क्यों कूदती है? कुछ डॉल्फिन तो पानी के बाहर हवा में 20 फीट से अधिक की छलांग लगा लेती है।
  • डॉल्फिन के श्वास लेने का अंतराल अलग-अलग होता है। कुछ को सांस लेने के लिए हर 20 सेकंड में सतह पर जाने की आवश्यकता होती है, जबकि अन्य को केवल हर 30 मिनट में इसकी आवश्यकता होती है।
  • डॉल्फिन में संभोग नाभि के द्वारा होता है।
  • डॉल्फ़िन का गर्भकाल प्रजातियों के अनुसार भिन्न हो सकता है। छोटी प्रजातियों जैसे कि टक्सीक्सी डॉल्फिन (Tucuxi dolphin) के लिए यह अवधि लगभग 11 से 12 महीने है, जबकि ऑर्का (orca) जैसी बड़ी प्रजाति के लिए लगभग 17 महीने है।
  • मादा डॉल्फ़िन एक बार में एक बच्चे को जन्म देती है। लेकिन कभी-कभी वे जुड़वा बच्चों को भी जन्म देती है।

Top 10 Fun Facts About Dolphin In Hindi

  • डॉल्फिन एकमात्र स्तनधारी है, जिसमें जन्म देते समय सिर के बजाय पूंछ पहले बाहर आता है।
  • मादा डॉल्फिन अपने बच्चों को प्रचुर मात्रा में वसा युक्त दूध पिलाती है।
  • डॉल्फिन की औसत जीवन प्रत्याशा 25 वर्ष है। लेकिन वे अधिकतम 50 तक रह जीवित सकती है।
  • डॉल्फ़िन अत्यधिक बुद्धिमान समुद्री जीव है। वे इंसानों की तरह ही सीख सकती है, खेल सकती है, दूसरों के साथ घुल-मिल सकती है और दुःखी भी हो सकती है।
  • डॉल्फिन एक दिन में 60 मील की दूरी तय कर सकती है।
  • डॉल्फ़िन मोनोगैमस (monogamous) नहीं होते। वे आपने जीवनकाल में कई सहचर बनाते है और उनसे संभोग करते है।
  • नर डॉल्फिन को “bulls” और मादा डॉल्फिन को “cows” कहा जाता है।
  • पहली दो मुँह वाली डॉल्फिन 2014 में तुर्की की एक बीच पर पाई गई थी।
  • जब ‘Killer Whale’ और ‘Bottlenose Dolphin’ का आपस में मिलन करवाया गया तो एक नई प्रजाति “Wolphin” पैदा हुई।
  • डॉल्फ़िन में healing process अत्यधिक प्रभावशाली होता है। इस कारण चोट लगने पर उनका रक्तस्राव जल्दी रुक जाता है और रक्त बहने के कारण उनकी मौत की संभावना अत्यंत कम होती है।
  • डॉल्फ़िन का आकार 6 फीट (1.7 मीटर) से लेकर 31 फीट की लंबाई तक हो सकता है। उसका वजन 110 lbs (50 किलोग्राम) और 10 टन के बीच होता है, जो उसकी प्रजातियों के प्रकार पर निर्भर करता है।
  • समुद्री डॉल्फिन परिवार की सबसे बड़ी सदस्य किलर व्हेल (killer whale) है। नर किलर व्हेल (male killer whale) की लंबाई 6-8 मीटर और वजन 3600-5400 kg होता है। मादा किलर व्हेल की लंबाई 5-7 मीटर और वजन 1400-2700 kg होता है।
  • डॉल्फ़िन मत्स्यभक्षी (piscivores) है और हर दिन लगभग 35 पाउंड मछली खा जाती है।
  • डॉल्फ़िन के बारे में सबसे प्रसिद्ध फिल्में फ्लिपर (Flipper), द डेफ ऑफ द डॉल्फिन (The Day of the Dolphin), ज़ीयूस और रॉक्सने (Zeus and Roxanne), द कॉव (The Cove) और डॉल्फिन टेल (Dolphin Tale) है।
  • अमेरिकी नेवी के पास 75 प्रशिक्षित की गई Dolphins है। जो उनकी पानी के अंदर माइन्स और दुश्मन तैराकों को ढूंढने में मदद करती है।

डॉल्फिन के बारे में रोचक तथ्य - Dolphin In Hindi

  • डॉल्फिन 36km/hour की स्पीड से भी तैर सकती है। जबकि इंसान अधिकत्तम 8.6km/h की स्पीड से ही तैर पाते है।
  • डॉल्फिन और व्हेल जब बच्चे को जन्म देती है तब पहले उसकी पूँछ निकलती है ना कि सिर।
  • पशु कल्याण संगठनों के अनुसार दुनिया भर में क़ैद में रखी गई डॉल्फ़िन की संख्या लगभग 3,000 है।
  • डॉल्फिन से द्वारा की गई आत्महत्या की बात भी सामने आई है। 1965 में जानवरों पर शोध करने वाली एक महिला मार्गरेट हॉवे (Margaret Howe) कुछ महिनों के लिए पीटर (Peter) नामक डॉल्फिन को इंग्लिश सिखाने उसके साथ वर्जिन आइलैंड (Virgin Islands) में निर्मित एक ख़ास घर में रही थी। इस डॉल्फिन को मार्गरेट हॉवे से प्यार हो गया था। जब उसे वहाँ से हटाकर मियामी (Miami) के अलग-थलग टैंक में छोड़ा गया, तो उसने सांस लेना ही बंद कर दिया और इस तरह आत्महत्या कर ली।
  • मादा डॉल्फिन एक से अधिक साथियों के साथ संबंध बनाती है लेकिन सिर्फ एक ही बच्चे को जन्म देती हो जिसको वो 6 साल तक अपने पास रखती है।
  • डॉल्फिन सभी स्तनधारियो में सबसे बुध्धिमान होती है।
  • डॉल्फिन सोते समय अपनी एक आंख खुल्ली रखकर सोती है। यह एक बार में 15 से 20 मिनिट तक सोती है, ऐसी जबकि यह दिन भर में बहुत बार लेती है।
  • दुनिया की सबसे लम्बी डॉल्फिन Orca (ओर्का) है जो 32 फीट या उससे भी अधिक हो सकती है वही दुनिया की सबसे छोटी डॉल्फिन Maui (माउ) है जो करीब 5 फीट की होती है।
  • डॉल्फिन की एक सबसे बड़ी खासियत यह है की वो कंपन वाली आवाज निकाल सकती है जो किसी भी चीज के साथ टकराकर वापिस डॉल्फिन के पास आ जाती है। इसके कारन डॉल्फिन को पता चल जाता है की शिकार कहा पर है और कितना बड़ा है।
  • डॉल्फ़िन में जमीन के जानवरों की तुलना में हल्की और अत्यधिक लचीली हड्डियाँ होती है। इसकी हड्डियाँ जमीनी जानवरों की तुलना में कमज़ोर होती है।
  • डॉल्फिनन को अकेले रहेना बिलकुल भी पसंद नहीं है इसीलिए यह ज्यादातर 10 से 12 के समूह में ही पाई जाती है।
  • यूनाइटेड स्टेट में डाल्फिन को सैन्य बलों द्वारा समुद्र के तहों में खदानों को खोजने और गुमशुदा नेवी तैराकों को खोजने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है।
  • जापान, पेरू, सोलोमन द्वीप और फरो द्वीप समूह में खाने के लिए डॉल्फ़िन का शिकार किया जाता है।
  • क्या आपको पता है कि सोते समय डॉल्फिन अपना आधा दिमाग बंध कर देती है और आधा चालू रखती है क्यूंकि उनको साँस लेने की प्रकिया खुद ही करनी पड़ती है।
दोस्तों उम्मीद है कि आपको हमारी यह पोस्ट [100+] Amazing Facts About Dolphin In Hindi पोस्ट पसंद आयी होगी। अगर आपको हमरी यह पोस्ट पसंद आयी है तो आप इससे अपने Friends के साथ शेयर जरूर करे और हमें Subscribe कर ले। ता जो आपको हमारी Latest पोस्ट के Updates मिलते रहे। दोस्तों अगर आपको हमारी यह साइट FactsCrush.Com पसंद आयी है तो आप इसे bookmark भी कर ले।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ