80+ Unbelievable Facts About Dinosaur In Hindi

Dinosaur Facts in Hindi - दोस्तों इस बार हम आपको डायनासोर के बारे में बताएंगे। डायनासोर जिसका अर्थ यूनानी भाषा में बड़ी छिपकली होता है लगभग 16 करोड़ वर्ष तक पृथ्वी के सबसे प्रमुख स्थलीय कशेरुकी जीव थे। यह ट्राइएसिक काल के अंत (लगभग 23 करोड़ वर्ष पहले) से लेकर क्रीटेशियस काल (लगभग 6.5 करोड़ वर्ष पहले), के अंत तक अस्तित्व में रहे, इसके बाद इनमें से ज्यादातर क्रीटेशियस -तृतीयक विलुप्ति घटना के फलस्वरूप विलुप्त हो गये। तो चलिए अब हम आपको डायनासोर के बारे में कुछ रोचक तथ्य और बातें (Interesting Facts & Information About Dinosaur In Hindi) बताएंगे।
[80+] Amazing & Unbelievable Facts About Dinosaur In Hindi

डायनासोर के बारे में रोचक तथ्य - Amazing Facts Dinosaur In Hindi

  • डायनासोर का इतिहास बहुत पुराना है। मनुष्य पृथ्वी पर लगभग 2.5 मिलियन वर्ष से रह रहे है। लेकिन डायनासोर लगभग 160 मिलियन वर्षों तक पृथ्वी पर रहे थे, जो लगभग 64 गुना अधिक लंबा समय है।
  • क्या आप जानते है की 65 करोड़ साल पहले मेक्सिको के पास एक बड़ा उल्कापिंड पृथ्वी से टकराया था जिससे 112 मील चौड़ा गड्डा बन गया था। इसके बाद धीरे धीरे डायनासोर विलुप्त होने लगे।
  • ‘Dinosaur’ शब्द ग्रीक भाषा के शब्द ‘terrible lizard’ से आया है। जिसका अर्थ होता है – भयानक छिपकली। ‘डायनासोर’ शब्द 1842 में एक ब्रिटिश जीवाश्म विज्ञानी रिचर्ड ओवेन ने दिया था।
  • वैज्ञानिकों का मानना है कि कुछ डायनासोर शाकाहारी और कुछ मांसाहारी हुआ करते थे। इसके अलावा कुछ डायनासोर दो पैरों से चलने वाले तो कुछ चार पैरों पर चलने वाले हुआ करते थे। ऐसा माना जाता था कि डायनासोर अपनी आवश्यकता के अनुसार दो और चार पैरों के रूप में अपने शरीर को बदल लेते थे।
  • “पहले छोटे आकार के डायनासोर अस्तित्व में आएं थे, बाद में बड़े आकार के। 230 मिलियन साल पहले ट्रायसिक काल (Triassic Period ) के दौरान दिखाई देने वाले पहले डायनासोर छोटे और हल्के थे। जुरासिक काल (Jurassic periods) और क्रेटेशियस काल (Cretaceous periods) के दौरान बड़े डायनोसोरस जैसे कि ब्राचियोसोरस (Brachiosaurus) और ट्राइसेरटॉप्स (Triceratops) पाए जाते थे।
  • ‘Ornithomimus’ सबसे तेज डायनासोर थे। यह 70km/h की रफ्तार से दौड़ सकते थे। यह हूबहू आज के शुतुरमुर्ग की तरह दिखते थे।
  • अब तक खोजे गए सबसे बड़े डाय़नासोर के कंकाल की लंबाई 89 फीट है। इसका नाम ‘Diplodocus’ रखा गया। यह अमेरिका के व्योमिंग शहर में मिला था। सबसे छोटे डायनासोर के कंकाल की लंबाई केवल 4 इंच है और इसका वजन एक चुहिया से भी कम था। इसे हम शाॅपिंग बैग में भी डाल सकते थे।
  • 30 साल पहले अंग्रेज मानते थे कि डायनासोर की हड्डियाँ हाथी या विशालकाय इंसानों की है।
  • वैज्ञानिकों के अनुमान अनुसार non-avian dinosaurs की 1000 से अधिक विभिन्न प्रजातियाँ थीं और 500 से अधिक अलग-अलग वंश थे। उनके अनुसार कई अभी भी अनदेखे डायनासोर है और उनकी वंश संख्या 1850 से अधिक हो सकती है।
  • टायरानोसॉरस रेक्स (Tyrannosaurus rex) एक वर्ष में 22 टन मांस खा जाया करते थे। इसमें दांत 6 इंच (15 सेमी) लंबे थे।
  • पहली बार ज्ञात अमेरिकी डायनासोर (Dinosaur) की खोज 1858 में न्यू जर्सी (New Jersey) के हैडनफील्ड (Haddonfield) के मार्टल गड्ढों (marl pits) में हुई थी। हालांकि कई अन्य जीवाश्म इसके पहले भी पाए गए थे। लेकिन उन्हें सही ढंग से डायनासोर के जीवाश्म के रूप में नहीं पहचाना गया था।
  • सबसे छोटा पूर्ण विकसित डायनासोर जीवाश्म लेसोथोसॉरस Lesothosaurus (“Lizard from Lesotho”) का था। इसका आकार मुर्गी के बच्चों जितना था।
  • DNA केवल 20 लाख साल तक जीवित रह सकता है। इसलिए डायनासोर के जीवाशम का DNA टेस्ट नहीं किया जा सकता।
  • सबसे लंबा शिकारी डायनासोर डाइनोशीरस (Deinocheirus) था। इसका सिर की जमीन से ऊँचाई 20 फीट (6 मीटर) थी।
  • सबसे लंबे पंजे वाला डायनासोर थेरिज़िनोसॉरस Therizinosaurus (reaping lizard) था. इसके पंजे 3 फीट (1 मीटर) लंबे थे।
  • डाय़नासोर दहाड़ नही सकते थे, यह सिर्फ मुंह बंद करके घुरघुरा सकते थे।
  • गुजरात की नर्मदा नदी के किनारे भी डायनासोर के अवशेष मिले है। यह करीब 7 करोड़ साल पुराने है।
  • क्या आप जानते है डायनासोर की पूँछ करीब 45 फ़ीट लम्बी हुआ करती थी।
  • डायनासोर का शरीर बहुत विशालकाय हुआ करता था, लेकिन एक वयस्क डायनासोर के दिमाग का आकार इंसान के बच्चे के दिमाग से भी छोटा होता था।
  • जिस प्रकार सांप और छिपकली अपनी स्किन छोड़ते है। वैसे ही डायनासोर भी समयानुसार अपनी स्किन छोड़ते थे।

डायनासोर के बारे में रोचक जानकारी - Information and Facts About Dinosaur In Hindi

  • ऐसा माना जाता है कि डायनासोर का जीवन काल करीब 200 साल का हुआ करता था।
  • सबसे ज्यादा दांतों वाला डायनासोर hadrosaurs था। अनुमान है कि इसके 1000 से अधिक दांत होते थे। इनमें लगातार नए दांत विकसित होते रहते थे।
  • सबसे पुराना ज्ञात डायनासोर साल्टोपस (Saltopus) है। यह छोटा मांसाहारी डायनासोर 245 मिलियन वर्ष पूर्व अस्तित्व में था।
  • 45 फीट लंबे और 6350 किलो वजनी, T. Rex (Tyrannosaurus rex) सबसे बड़े मांसाहारी डायनासोर थे। इनके पिछले पैर बहुत बड़े-बड़े होते थे। लेकिन अगले हाथ बिल्कुल छोटे-छोटे। इनके बड़े-बड़े दाँत होते थे जिनकी लंबाई जड़ समेत 10 इंच थी। इनके 4 फीट लंबे जबड़े में 50 से 60 दाँत होते थे। यह काट सकते थे लेकिन शिकार को चबाते नही थे बल्कि सीधा निगल जाते थे।
  • सभी डाय़नासोर में self-defense सिस्टम मौजूद था। अपनी सुरक्षा के लिए हथियार जन्म से उनके पास होते थे। जैसे मांसाहारी के दांत और नाखून लंबे होते थे। शाकाहारी के सींग और चौड़े पंजे होते थे। लेकिन आज तक कोई यह नही जान पाया की डायनासोर की पीठ पर प्लेट क्यों होती थी।
  • अधिकत्तर डायनासोर सिर्फ एक हड्डी या एक दाँत से खोजे गए है।
  • आज से 23 करोड़ साल पहले डायनासोर का जन्म हुआ और आज से 6.5 करोड़ साल पहले आखिरी डायनासोर की मौत हुई।
  • डायनासोरों की पढ़ाई करने वाले आदमी को ‘Paleontologist’ कहते है।
  • डायनासोर धरती पर 16 करोड़ साल तक रहे। इंसानो का जीवन इसका केवल 0.1% है। डाय़नासोर जिस काल में धरती पर जीवित थे उसे ‘Mesozoic era’ कहा जाता है। यह इस युग के तीनों भागों में जीवित रहे: Triassic, Jurassic और Cretaceous.
  • डायनासोर की लगभग सभी प्रजातियां अंडे दिया करती थी, परन्तु वैज्ञानिक अभी तक करीब 40 तरह की प्रजातियों के अंडों की खोज करने में सफल रहे है।
  • डायनासोर के मुंह में 50 दांत होते थे। जिससे वह किसी भी अन्य जीव की हड्डियां आसानी से तोड़ सकते थे।
  • सबसे बड़े डायनासोर के अंडे बाॅस्केट बाॅल जितने बड़े होते थे। जितना बड़ा अंडा, उतना ही मोटा उसका कवच ताकि बच्चे बाहर ना आ सके। अब तक मिले सबसे छोटे डायनासोरी अंडे की लंबाई 3 cm और वजन 75 gram है। यह अंडा किस प्रजाति का था किसी को नही पता। सबसे बड़ा डायनासोरी अंडा 19 इंच की लंबाई का मिला है। ऐसा माना जाता है कि यह एशिया के मांसाहारी डायनासोर का है। डायनासोर की सभी प्रजातिया अंडे देती थी। अभी तक 40 प्रजातियों के अंडे मिल चुके है।
  • 2015 में, एक 4 साल के बच्चे ने 10 करोड़ साल पुराने डायनासोर का जीवाश्म खोजा।
  • मांसाहारी डायनासोर को थेरोपोड (theropods) के नाम से जाना जाता है, जिसका अर्थ है “जानवर के पैर”। ऐसा इसलिए है क्योंकि उनकी पैर की उंगलियों पर नुकीले खुर और झुके हुए पंजे होते थे। इसके विपरीत, शाकाहारी डायनासोरों के कुंद खुर या पैर की अंगुली होती थी।

Interesting Facts About Dinosaurs In Hindi - डायनासोर से जुड़े कुछ रोचक तथ्य

  • दो पैरों पर चलने वाले डायनासोर (Dinosaur) को बिपेड (bipeds) कहा जाता था।
  • अधिकांश लोगों की सोच है कि डायनासोर विशालकाय थे। लेकिन आमतौर पर डायनासोर मानव आकार के या छोटे होते थे।
  • डायनासोरों को उनके कुल्हे की हड्डी (hipbones) की संरचना के आधार पर दो समूहों में विभाजित किया गया है। Saurischia Dinosaurs या lizard hipped dinosaurs के कूल्हों की हड्डियाँ आगे की झुकी होती थी। Ornithischian Dinosaurs या bird-hipped dinosaurs के कूल्हों की सभी हड्डियाँ पीछे की ओर झुकी होती थी।
  • वैज्ञानिकों का मानना है कि पक्षी (Bird) का विकास छिपकली के आकार के डायनासोर से हुआ है, न कि पक्षी के आकार के डायनासोर का।
  • सुरक्षा के लिए शाकाहारी डायनासोर अक्सर समूह में रहा करते थे, जैसे कि आज के जानवर रहते है।
  • 1923 में एक्सप्लोरर रॉय चैपमैन एंड्रयूज (Roy Chapman Andrews) ने मंगोलिया के गोबी रेगिस्तान में डायनासोर का पहला घोंसला ढूंढा। उसके पहले वैज्ञानिक अनिश्चित थे कि डायनासोर के बच्चे कैसे पैदा होते है।
  • जो डायनासोर छोटे आकार के होते थे। उनका कद 4 से 5 फिट का होता था। प्रन्तु विशालकाय डायनासोर का कद करीब 50 से 60 फीट भी होता था।
  • बोलविया में एक चूना पत्थर की चट्टान पर डायनासोरों के पाँवो के 5,000 निशान पायह गए है, यह निशान करीब 6 करोड़ 80 लाख पुराने है।
  • क्या आप जानते है कि फिल्म का नाम ‘Jurassic Park’ होने के बावजूद इसमें ज्यादात्तर डाय़नासोर ‘Cretaceous’ काल के थे।
  • जुरासिक पार्क फिल्म में डायनासोरो की जो आवाज निकाली गई है। वह दरअसल सेक्स करते हुए कछुओं की आवाज है।
  • डायनासोर की खोपड़ियों में बड़े-बड़े छेद थे, जिसके कारण उनकी खोपड़ी वजन में हल्की होती थी।
  • मनुष्य के नवजात शिशु के दिमाग (Brain) का आकार वयस्क डायनासोर के दिमाग (Brain) के आकार से बड़ा होता है। सभी जीवित प्राणियों में सबसे बड़ा दिमाग व्हेल (Whale) और डॉल्फ़िन (Dolphin) का होता है।
  • ‘Dinosaur’ शब्द ग्रीक भाषा के शब्द ‘terrible lizard’ से आया है। जिसका अर्थ होता है – भयानक छिपकली। ‘डायनासोर’ शब्द 1842 में एक ब्रिटिश जीवाश्म विज्ञानी रिचर्ड ओवेन ने दिया था।
  • मध्य चीन में ग्रामीण कई साल तक डायनासोरों की हड्डियों को दवा के रूप में प्रयोग करते रहे। वे इन्हें ड्रैगन की हड्डियाँ मानते थे। कुछ लोगो ने इनको इकट्ठा करके व्यापार बना लिया था। एक मि. झांग नाम के आदमी ने 8,000 किलो हड्डियाँ इकट्ठी कर ली थी।
  • डायनासोर पृथ्वी पर करीब 150 करोड़ वर्ष पहले रहते थे, यह समय धरती के अस्तित्व का मध्य काल था।
  • अधिकतर डायनासोर बहुत विशालकाय शरीर वाले होते थे लेकिन कुछ डायनासोर की प्रजातियों का आकार इंसान के बराबर भी हुआ करता था।

Unknown Facts About Dinosaur In Hindi

  • जो डाय़नासोर पानी के नजदीक थे। उसके सबसे अच्छे अवशेष मिले है।
  • जिस प्रकार पक्षी अपने अंडों के लिए घोंसला बनाते है। वैसे ही डायनासोर भी अपने अंडे देने के लिए घोंसले बनाया करते थे। डायनासोर के अंडे टेनिस बॉल और फुटबॉल जितने बड़े हुआ करते थे।
  • सबसे लंबे नाम वाला डायनोसोर माइक्रोप्राइसफैलोसॉरस (Micropachycephalosaurus) है। इस नाम का अर्थ है – ‘छोटे सिर वाली छिपकली’। इसके जीवाश्म चीन (China) में पाए गए थे।
  • सबसे छोटे मस्तिष्क वाला डायनासोर स्टेगोसॉरस (Stegosaurus) था। इसका शरीर एक वैन के आकार का था, लेकिन मस्तिष्क अखरोट के आकार का था।
  • सबसे चतुर डायनासोर Troodon थे। इनके मस्तिष्क का आकार आज के स्तनधारियों या पक्षियों के जितना था। इनमें हाथों की पकड़ अच्छी थी और दृष्टि stereoscopic (त्रिविम) थी।
  • विज्ञानिकों माना जाता है कि उस समय डायनासोर की लगभग 2468 प्रजातियां थी जिनमें से कुछ प्रजातियां उड़ भी सकती थी।
  • शाकाहारी डायनासोर 1 दिन में 1 टन पत्तियां खा जाते थे।
  • डायनासोर करीब 20 मील प्रति घंटे की तेज रफ्तार से दौड सकते थे।
  • सबसे बड़ा उड़ने वाला सरीसृप क्वेटज़ालकोटस (Quetzalcoatlus) था। इसके पंख 39 फीट (12 मीटर) तक फैले हुए थे।
  • डायनासोर में सबसे बड़ी खोपड़ी Pentaceratops की थी, जो 10 फीट (3 मीटर) लंबी थी।
  • डायनासोर पत्थर के बड़े-बड़े टुकड़े निगल जाते थे। यह इनके पेट में रहकर भोजन पचाने में सहायता करते थे।
  • मांस खाने वाले डायनासोर को ‘थेरोपोड’ कहा जाता है। मतलब, ‘राक्षसी पंजो वाले’। इनके खुर और नाखून तेज होते थे। बल्कि शाकाहरी डायनासोर के पंजे और नाखून तेज नही थे।
  • वैज्ञानिकों का मानना है कि कुछ डायनासोर ठंडे खून के थे तो कुछ गर्म खून के। शाकाहारी डायनासोर ठंडे खून के थे, कुछ बड़े आकार वाले शाकाहारी रोज एक टन खाना खाते थे। बल्कि मांसाहारी डायनासोर गर्म खून के थे और यह अपने साइज के शाकाहारियों से 10 गुना ज्यादा भोजन खा जाते थे।
  • डायनासोरों की हड्डियाँ खोखली होती थी, खासकर मांसाहारी डायनासोरों की। ताकि इनका वजन हल्का बना रहे और यह दो पैरो पर चलते थे। ताकि यह तेजी से भाग सके और दोनों हाथो से शिकार कर सके। शाकाहारी डाय़नासोर अपने भारी शरीर को चलाने के लिए चार पैरों पर चलते थे। यह सिर्फ कुछ समय के लिए ही दो पैरों पर संतुलन बना पाते थे।
  • डाय़नासोर अंटार्कटिका सहित हर महाद्वीप पर पाए गए है। लेकिन उस समय महाद्वीप एक-दूसरे के नजदीक हुआ करते थे।
  • कुछ डायनासोर की पूंछ 45 मीटर लंबी थी। यह लंबी पूँछ भागते समय बैलेंस बनाने में मदद करती थी।
दोस्तों उम्मीद है कि आपको हमारी यह पोस्ट [80+] Amazing & Unbelievable Facts About Dinosaur In Hindi पोस्ट पसंद आयी होगी। अगर आपको हमरी यह पोस्ट पसंद आयी है तो आप इससे अपने Friends के साथ शेयर जरूर करे और हमें Subscribe कर ले। ता जो आपको हमारी Latest पोस्ट के Updates मिलते रहे। दोस्तों अगर आपको हमारी यह साइट FactsCrush.Com पसंद आयी है तो आप इसे bookmark भी कर ले।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ