150+ Amazing Facts About Rabbits in Hindi

Rabbit Facts in Hindi - दोस्तों आज हम आपको खरगोश (Rabbit) के बारे में जानकारी देंगे। दोस्तों खरगोश बहुत प्यारा जानवर है। यह जब ख़ुश होते है तो यह खुशी से कूदने लगते है। खरगोश एक सामाजिक प्राणी है जो कि समूह में रहना पसंद करते है। इन्हें ठंडे स्थान पर रहना अच्छा लगता है। पर आज हमें खरगोश बहुत कम ही दिखाई देते है, क्योंकि इनकी बहुत सी प्रजातियां ख़तरे में है। इन्हें हमारे प्यार और साथ की बहुत जरूरत है। तो चलिए अब हम आपको खरगोश से जुड़े रोचक तथ्य (Facts About Rabbit in Hindi) बताते है।

150 Amazing Facts About Rabbits in Hindi

खरगोश के बारे में रोचक तथ्य - Rabbit Facts in Hindi

  • खरगोश समूह में रहने वाला जीव है। इनके समूह को ‘herd’ कहा जाता है। खरगोश एकांत में असुरक्षित महसूस करते है। उनका विकास तब बेहतर होता है, जब उन्हें अन्य खरगोशों या घरेलू पालतू जानवरों के साथ रखा जाता है।
  • खरगोशों की सबसे बड़ी भूमिगत कॉलोनी यूरोप (Europe) में देखी गई थी, जहाँ 450 खरगोश रहा करते थे। वह अपने आप में इंजीनियरिंग कला का एक बेजोड़ नमूना था। लंबी दूरी तक फैली उस कॉलोनी में 2,000 प्रवेश द्वार थे।
  • खरगोश उलटी नही कर सकते है।
  • खरगोश का मांस लाल नहीं, सफेद होता है।
  • एक खरगोश अपने बच्चे को दिन में सिर्फ पाँच मिनट खाना खिलाती है।
  • ये वहाँ रहना पसंद करते है, जहाँ ठंडक हो।
  • जब खरगोश खुश होते है तो ये कूदते है।
  • अगर हम इनके रोज़ की आदतों में दखल देने की कोशिश भी करें, तो खरगोश हम पर हमला कर सकती है।
  • खरगोश सबसे ज़्यादा फुर्तीले भोर के समय में, और शाम के समय में होते है। बाकी के समय में वे आराम कर रहे होते है।
  • खरगोश के लिए अलग तरह के चिकित्सक होते है।
  • इनके शरीर और फर को हर रोज़ झाड़ना पड़ता है।
  • खरगोश, इंसानों की तरह आसानी से बोर हो जाते है।
  • खरगोश 35-40 किमी प्रति घंटे की स्पीड से दौड़ता है। लेकिन इसकी सबसे तेज भागने वाली प्रजाति जैक खरगोश 70km प्रति घंटे की रफ्तार से भी दौड़ सकता है। खरगोश अपने दुश्मनों से बचने के लिए कभी भी सीधा नही दौड़ता है बल्कि हमेशा टेढ़ा मेढ़ा दौड़ता है।
  • एक जंगली खरगोश का क्षेत्र 30 टेनिस कोर्ट जितना बड़ा होता है।
  • खरगोश की आधी से ज्यादा आबादी नार्थ अमेरिका में रहती है।

Facts About Rabbits In Hindi

  • खरगोश और घोड़े, बहुत सामान्य है। इनके आँख़, दाँत, और कान बहुत मिलते है।
  • खरगोश उनके जन्म के समय में अंधे होते है।
  • ये जानवर 10-12 साल, या उसके ऊपर के उम्र तक जीवित रह सकते है।
  • बिल्लियों की तरह, खरगोश अपने आप को साफ रखता है।
  • खरगोश को स्वस्थ रहने के लिए दिन में कम से कम 4 घंटे व्यायाम और खेल की ज़रूरत होती है।
  • एक खरगोश के कान बहुत ही तेज़ होते है। वे एक ही बार में दो दिशाओं से आवाज़ सुन पाते है।
  • खरगोश खाने में लगभग 6-8 घंटे खर्च करता है, और एक मिनट में लगभग 120 बार खाना चबाता है।
  • खरगोश लगभग-लगभग 360 डिग्री तक देख सकता है, लेकिन उसकी नाक से ठीक नीचे एक ब्लाइंड स्पॉट होता है। इसलिए जो भोजन खरगोश खाता है उसे दिखाई नही देता बल्कि वह सिर्फ सूंघकर पता लगाता है।
  • हालांकि दुनियाभर में खरगोश सबसे ज्यादा मनुष्य के हाथों ही मारा जाता है। इसके मीट और फर के लिए हर साल लगभग 1 बिलियन खरगोश को मारा जाता है। “चीन” पूरे विश्व में खरगोश के माँस का सबसे बड़ा उत्पादक है। पूरे विश्व का 40 प्रतिशत खरगोश के माँस का उत्पादन अकेले चीन में ही होता है।
  • धरती पर पालतू खरगोश की लगभग 305 प्रजातियां और जंगली खरगोश की लगभग 13 प्रजातियां है।
  • 1912 से पहले खरगोश को ‘रोडेंट्स’ यानी चूहे, गिलहरी आदि की श्रेणी में रखा जाता था फिर इन्हें ‘लैगोमॉर्फा’ यानि खरहा (hare) और पिका वाली श्रेणी में डाल दिया गया।
  • खरगोश को पूरे शरीर में सिर्फ उसके पैरों की तली के माध्यम से ही पसीना आता है।
  • खरगोश के जबड़े में 28 दांत होते है और रोचक बात ये है कि उनके दांत जीवनभ़र बढ़ते रहते है जो हर महीने 1 से.मी. तक बढ़ जाते है।
  • जब इनका जन्म होता है, तो इनके शरीर पर फर नहीं होता है।
  • दिन में एक खरगोश कम से कम 18 बार सोता है।
  • खरगोश बहुत ही कम रंग को पहचान पाते है। लाल और हरा उन में से एक है।
  • खरगोश अपने साथियों को और इंसानों को, अपना प्यार जताने के लिए चाटते है।
  • आगे के पैर पर, इनके 5 उंगलियाँ होतीं है, और पीछे के पैर पर चार। कुल मिलाकर, इनके 18 पैर की उंगलियाँ है।
  • खरगोश को पसीना नहीं आता है।
  • दुनिया का सबसे छोटा खरगोश अमेरिका की ‘ऑरेगोन ज़ू’ में पाया गया “पिग्मी खरगोश” है, जिसकी लंबाई एक हथेली से भी कम है। और दुनिया का सबसे बड़ा खरगोश भी अमेरिका में ही पाया गया था। जिसका नाम “डेरियस” है। इसकी लंबाई 4 फीट 4 इंच और वजन लगभग 22 kg है।
  • किसी खरगोश द्वारा ऊंचा कूदने का रिकॉर्ड 99.5 सेमी (39.2 इंच) का है। इसे डेनमार्क के एक खरगोश “Mimrelunds Tösen” ने 28 जून 1997 को बनाया था। काले और सफेद रंग का ये खरगोश डेनमार्क के एक खरगोश क्लब का सदस्य था।
  • दुनिया में पालतू खरगोश (Domestic Rabbit) की लगभग 305 और जंगली खरगोश की लगभग 13 प्रजातियाँ है।
  • खरगोश मनुष्य की तरह स्तनधारी (mammals) जीव है। मनुष्यों की तरह वे भी गर्म रक्त वाले होते है। उनमें बाल या फर होते है। वे बच्चे जन्मते है तथा मादाएं अपने बच्चों के लिए दूध का उत्पादन करती है।
  • अंटार्कटिका (Antarctica) महाद्वीप को छोड़कर खरगोश (Khargosh) दुनिया के हर स्थान में पाए जाते है।
  • वैज्ञानिक मानते है कि खरगोशों की उत्पत्ति यूरोप और अफ्रीका में हुई थी. तीव्र प्रजनन में समर्थ होने के कारण वे शीघ्र ही पूरी दुनिया में फैल गए. हाल की के कुछ सालों में खरगोशों को उन द्वीपों और दूरदराज के क्षेत्रों में ले जाया गया है, जहाँ वे स्वाभाविक रूप से नहीं पहुँच पाए थे।
  • आपको जानकर आश्चर्य होगा कि खरगोश (Rabbit) अपना मल खाते है। खरगोश का पाचन तंत्र बहुत अधिक विकसित नहीं होता. इसलिए बहुत से पोषक तत्व मल द्वारा शरीर से बाहर निकल जाते है, जिन्हें वे दोबारा खाकर पचाते है और पोषण प्राप्त करते है। ये गाय द्वारा की जाने वाली जुगाली की तरह की प्रक्रिया कही जा सकती है।
  • कुछ लोग सोचते है कि खरगोश निशाचर है। लेकिन यह गलत है। निशाचर प्राणियों में tapetum lucidum होता है, जो खरगोशों में नहीं पाया जाता। इसके बिना खरगोशों के लिए घने अंधेरे में ठीक से देख पाना मुश्किल या असंभव होता है।
  • खरगोश को हमेशा ज़्यादा फाइबर और कम प्रोटीन की चीज़ें खाना चाहिए।
  • दिन के कई घंटे ये घास खाते है। ये पूरी तरह से शाकाहारी होते है।

Information About Rabbits In Hindi

  • घास के अलावा ये फल, फल के बीज, और सब्ज़ियाँ जैसी चीज़ें भी खाते है।
  • जब इन्हें किसी के साथ रखा जाए, तो खरगोश बहुत खुश हो जाते है।
  • इन्हें उल्लू और चील जैसे पक्षियों से बड़ा खतरा है।
  • इनके कान 4 इंच लम्बे होते है।
  • आपको जानकर हैरानी होगी खरगोश से उन भी प्राप्त की जाती है और इस उन का नाम अंगोरा उन होता है।
  • क्या आप जानते है खरगोश का बच्चा पैदा होने के ग्यारह दिन बाद अपनी आंखे खोलता है और यह 14 दिन बाद अपने आप ही अपना भोजन खाने योग्य हो जाते है।
  • आपको जानकर हैरानी होगी जब खरगोश पैदा होता है तो उसके शरीर पर एक भी बाल नहीं होता।
  • खरगोश भोजन में फूल, फल, नट इत्यादि खाने वाला जीव है और यह शाकाहारी होते है।
  • खरगोश केवल अपनी नाक से ही सांस लेते है। मुँह से सांस लेना मुश्किल होने के कारण नाक बंद हो जाने की स्थिति उनके लिए गंभीर हो सकती है।
  • खरगोश उदास हो सकते है या अवसाद (depression) में जा सकते है। वे अपने साथियों के चले जाने पर शोक मनाते है। यदि उनके साथ खेला न जाये, तो वे अकेलापन महसूस करते है। अवसाद (depression) में घिरा खरगोश खाना, पीना और संवरना बंद कर देता है।
  • गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड (Guinness Book Of World Record) के अनुसार सबसे लंबी आयु तक जीवित रहने वाला खरगोश तस्मानिया, ऑस्ट्रेलिया (Tasmania, Australia) का Flopsy था, जो 6 अगस्त 1964 को पकड़ा गया था और 18 वर्ष 10 माह तक जीवित रहा था।
  • गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड (Guiness Book Of World Records) के अनुसार वर्तमान में सबसे लंबी उम्र का जीवित ख़रगोश Illinois, USA का Mick है, जो 17 वर्ष का है।
  • खरगोश के मांस का सबसे बड़ा उत्पादक चीन (China) है, जो दुनिया के 40% खरगोश के मांस का उत्पादन करता है।
  • खरगोशों के फेफड़े (Lungs) एक जैसे नहीं होते है। उनके बाएं फेफड़े में 2 lobes होते है, जबकि दाएं में 4. इस कारण खरगोशों का बांया फेफड़ा दायें से काफी छोटा होता है। लेकिन जब तक स्वस्थ हों, तो इन्हें सांस लेने में कोई कठिनाई नहीं होती।
  • खरगोशों की श्रवण शक्ति तीव्र होती है। खरगोश 2 मील दूर तक की आवाज़ आसानी से सुन सकते है। इससे उन्हें शिकारियों का पता लगाने में मदद मिलती है।
  • इंसानों के पास 9000 जबकि खरगोशों के पास 14000 स्वाद कलिकाएँ होती है।
  • खरगोश की ठोड़ी के नीचे एक सुगंध की ग्रंथि होती है जिसे वह जब भी किसी चीज पर रगड़ते है तो उस वस्तु में भी वही सुंगध उठ जाती है। ये ऐसा अपने क्षेत्र की पहचान करने के लिए और किसी चीज पर अपना हक जताने के लिए करते है।
  • नर खरगोश को buck, मादा को does और बच्चे को kit या kitten कहते है और खरगोश के एक समूह को कॉलोनी कहते है।
  • यूरोप के बहुत सारे हिस्सो में लोग खरगोश के पैर को अपने गले में पहनते है। वहाँ ऐसा करना अच्छी किस्मत का प्रतीक है।
  • दुनिया के सबसे छोटे खरगोश Pygmy Rabbits है। उत्तरी अमरीका (North America) में पाए जाने वाले इन खरगोशों का वजन 375 से 500 ग्राम तक होता है और शरीरिक लंबाई 23.5 से 29.5 से.मी. तक होती है। मादा आकार में नर से कुछ बड़ी होती है। छोटे होने के बाद भी ये खरगोश अविश्वसनीय रूप से तेज़ और फुर्तीले होते है।
  • दुनिया में सबसे बड़े पालतू खरगोश Flemish Giant Rabbit है, जिनका औसतन वजन 15 पौंड होता है। हालांकि कई बार इनका वजन 22 पौंड तक भी देखा गया है। इसकी लंबाई 4 फीट 3 इंच तक हो सकती है।
  • क्या आप जानते है खरगोश की अब तक केवल 8 प्रजातियों को ही खोजा जा चूका है। जिनमे लोप प्रजाति विश्व में सबसे खूबसूरत प्रजाति मानी जाती है। इस प्रजाति क खरगोश आम तोर पर सफ़ेद रंग के होते है और इनका रंग बहुत हद तक सफ़ेद बतख से मेल खाता है।
  • मध्य युग के आरंभ से मनुष्यों ने खरगोशों को पालना शुरू कर दिया था। उस दौरान वे पशुधन (livestock) के रूप में रखे जाते थे। उस समय खरगोशों के रंग, आकार, या फर पैटर्न में कई विविधताएं नहीं पाई जाती थी।
  • खरगोशों (Rabbits) के चेहरे के ठीक सामने और नाक के ऊपर 10 डिग्री का एक blind spot होता है। इसलिए बहुत करीब से वह चीज़ों को अच्छी तरह देख नहीं पाते. वे दूर से चीज़ों को बेहतर ढंग से देख सकते है।
  • खरगोश शाकाहारी होते है। हालांकि भोजन की उपलब्धतता कम होने पर कुछ जंगली खरगोशों को मृत जानवरों के अवशेष खाते देखा गया है।
  • खरगोशों को शर्करा युक्त पदार्थ या मानव के खाद्य पदार्थ नहीं खिलाना चाहिए. वे इन चीजों को सुरक्षित तरीके से पचाने में असमर्थ होते है और उन्हें गैस की समस्या हो सकती है। लंबे समय तक जंक फ़ूड खिलाये जाने पर वे कुपोषण से मर सकते है।
  • खरगोश क्रेपसकुलर (crepuscular) होते है। इसका अर्थ है कि वे मध्य-प्रकाश की स्थिति जैसे भोर और शाम में सबसे अधिक सक्रिय है। वे दिन का उजाला या बहुत अंधेरी रात पसंद नहीं करते है। हालांकि आवश्यकता पड़ने पर वे उन परिस्थितियों में भी रह सकते है।

World Records of Rabbit in Hindi – खरगोश के कुछ वर्ल्ड रिकॉर्ड

  • दुनिया में सबसे तेज़ खरगोश जैकरैबिट्स (Jackrabbits) है। उनकी रफ़्तार 45 मील/घंटे तक होती है।
  • सबसे ज्यादा शोर करने वाली खरगोश मेक्सिको (Mexico) का Volcano Rabbit है। यह दुनिया का दूसरा सबसे छोटा खरगोश भी है, जिसका वजन मात्र 390-600 ग्राम होता है।
  • खरगोश की सबसे ज्यादा संकटग्रस्त प्रजाति Riverine Rabbit है। वर्तमान में 400 से भी कम Riverine Rabbit बचे है। यह दुनिया में सबसे ज्यादा लुप्तप्राय स्तनधारियों में से भी माने जाते है।
  • खरगोश का गर्भावस्था काल लगभग 30-32 दिनों का होता है। मादा खरगोश साल में कम से कम चार बार और एक बार में औसतन 3-7 बच्चे देती है। जन्म के समय खरगोश के बच्चें बिना बालों के पैदा होते है और उनकी आंखें तब तक नहीं खुलती जब तक वे लगभग 2 सप्ताह के नही हो जाते और लगभग 8 सप्ताह बाद वो अपनी माँ का दूध पीना छोड़ते है।
  • खरगोश एक बार में अपने एक कान को भी हिला सकता है और ठंड से बचने के लिए यह अपने बाहरी कान को मोड़ भी लेता है। यही कारण है कि खरगोश ठंड के बजाय गर्मियों में बेहतर सुन सकता है।
  • दुनिया के आधे से ज्यादा खरगोश उत्तरी अमेरिका में रहते है और यह जमींन में घर बनाकर रहते है जिन्हे आम भाषा में बिल कहाँ जाता है।
  • खरगोश के जमींन में बने बिलो के समुह को वारेन कहाँ जाता है।
  • खरगोश कलर ब्लाइंड नहीं होते, लेकिन लाल रंग ठीक से न देख पाने के कारण रंगों को देखने की उनकी क्षमता सीमित होती है।
  • तेज हवा खरगोश की सुनने की क्षमता में हस्तक्षेप कर सकती है। जब तेज हवा चल रही होती है, तब जंगली ख़रगोश अपनी भूमिगत मांद में रहते है। पालतू खरगोशों को खुली खिड़की से आने वाली हवा या कमरे में चलता हुआ पंखा परेशान कर सकता है।
  • अधिकांश स्तनधारियों के विपरीत मादा ख़रगोश अपने बच्चों को दिन में सिर्फ़ एक बार दूध पिलाती है। खरगोश का दूध समृद्ध और पौष्टिक होता है। चूंकि मादा खरगोश को भोजन के लिए बहुत अधिक समय और ऊर्जा खर्च करनी पड़ती है और उसका आहार भी बहुत पौष्टिक नहीं होता है, इसलिए उनका शरीर बच्चों के लिए सुपर दूध का उत्पादन करता है, ताकि उसे कम मात्रा में भी सारा पोषण मिल सके।

Facts About Rabbits For Kids In Hindi

    • मादा खरगोश अपने बच्चों के साथ बहुत कम समय बिताती है। यह उपेक्षा नहीं है। अधिकांश समय उनसे दूर रहकर वास्तव में वे शिकारी जीवों से उनकी रक्षा कर रही होती है।
    • लगभग 6 माह का होने पर खरगोश यौन परिपक्वता प्राप्त कर लेते है।
    • खरगोशों की सबसे दुर्लभ प्रजाति Omilteme Rabbit है। वे केवल मैक्सिको में पाए जाते है और वह भी बहुत छोटे क्षेत्र में. इनकी संख्या अज्ञात है। ऐसी भी आशंका जताई जाती है कि शायद ये विलुप्त हो चुके है।
    • ये अपनी आँखें खुली रखकर सो सकते है।
    • खरगोश एक बहुत प्यारा और छोटा जानवर होता है। इसकी लम्बाई औसतन 40-50 cm और वजन लगभग 1.5-2.5 kg होता है।
    • दुनियाभर में सबसे ज्यादा यूरोपियन खरगोश को ही पाला जाता है। हम भी जो खरगोश पालते है वो यूरोपियन खरगोश ही है।
    • अगर ये बीमार होते है, तो वे इस बात को छुपाने की पूरी कोशिश करते है।
    • हर खरगोश एक दूसरे से किसी ना किसी तरह अलग होता ही है।
    • खरगोश बहुत ही संवेदंशील होते है और इसके कारण छोटे बच्चों को इनसे दूर रखना चाहिए।
    • खरगोश बहुत ही समझदार और चालाक होते है।
    • खरगोश के दाँत बहुत ही मज़बूत होते है, और ये कभी बढ़ना बंद नहीं करते।
    • खरगोश स्तनपायी जीवों में आने वाला एक खूबसूरत जीव है और यह लेपोरीडी परिवार का सदस्य है। उदहारण के तौर पर चमगादड़ व् गधा भी स्तनपायी जीवो की श्रेणी में आने वाले जीव है।
    • खरगोश सामाजिक जीवन व्यतीत करने वाले जानवरों की श्रेणी में आता है और यह अक्सर समाज बनाकर व् समूह में रहते है।
    • सभी खरगोश हमेशा हाई अलर्ट पर रहते है। सोते समय या आराम करते समय भी उनकी इन्द्रियाँ खतरे के प्रति सचेत रहती है।
    • अवसाद (Depression) में घिरे खरगोश अपने फ़र नोच सकते है, अपने पैरों को चबा सकते है या अन्य तरीकों से स्वयं को नुकसान पहुँचा सकते है। यदि पालतू खरगोशअचानक खुद को चोट पहुँचाना शुरू कर दे, तो हो सकता है कि उसे आस-पास के वातावरण को कोई चीज तनाव दे रही है।

    खरगोश के बारे में जानकारी - Facts About Rabbits In Hindi

      • बच्चों को जन्म देने के बाद मादा खरगोश अपने फर तोड़कर मांद के भीतर बिछाती है। नवजात खरगोशों को जीवन के पहले कुछ दिनों तक पर्याप्त गर्म स्थान की आवश्यकता होती है। फ़र मांद को गर्म रखने का काम करते है।
      • हर साल एक मादा खरगोश कम से कम नौ बच्चों को जन्म देती है।
      • कुत्ते और बिल्लियों से ज़्यादा, खरगोश को एक छत्त की ज़रूरत होती है।
      • इनके दाँत और नाखुन बढ़ते ही रहते है। इसलिए इनका बहुत ज़्यादा ध्यान रखना पढ़ता है।
      • खरगोश हमेशा ही अपने आप को बहुत ताकतवर बताने की कोशिश में लगे रहते है।
      • इनका जीवन काल लगभग 10 साल का होता है, लेकिन सिर्फ अगर उसका अच्छे से ध्यान रखा जाए।
      • इनकी आवाज़ बिल्लियों से मिलती है।
      • खरगोश के सिर्फ 28 दाँत होते है।
      • दुनिया का सबसे भारी खरगोश का वज़न लगभग 22 किलो है।
      • खरगोश से जुड़ी, पंचतंत्र की कहानी बनी है।
      • दुनिया का सबसे बड़ा खरगोश 16 साल का था।
      • खरगोश 36 इंच की ऊँचाई तक कूद सकते है।
      • जो खरगोश जंगल में रहते है, वे ज़मीन के नीचे एक गढ़ा बनाकर, वहाँ रहते है।
      • एक मिनट में एक खरगोश का दिल 150-200 बार धड़कता है।
      • खरगोश तैर सकते है, लेकिन ज़्यादातर खरगोशों को तैरना पसंद नहीं है।
      • जब हम एक खरगोश को पकड़ते है, या खरगोश परेशान हो, तो उसके बाल झड़ते है।
      • 2 किलो का खरगोश 9 किलो के कुत्ते के बराबर पानी पी सकता है।
      • जंगली खरगोश की उम्र लगभग 1-2 साल की और पालतू खरगोश की उम्र 8-10 साल की होती है। हालांकि ऑस्ट्रेलिया में एक खरगोश 18 साल तक जीवित रहा था, जो कि एक वर्ल्ड रिकॉर्ड है।
      • खरगोश 1 दिन में 18 झपकी लेता है और कुल 8 घंटे सोता है और यह अपनी आँखे खोल कर भी सो सकता है।
      • खरगोश, साल में चार बार हर तीन महीने में एक बार अपना रोआं बदलता है। गर्मियों के अंत वाले और सर्दियों के अंत वाले रोंए बदलना काफी कठिन होता है बाकी दो तो हल्के-फुल्के होते है।
      • खरगोश अपने दूसरे साथी को सावधान करने के लिए अक्सर अपने पैर जमीन पर जोर-जोर से पटकता है।
      • यदि आपको कभी खरगोश हवा में उछल कर पटखनी खाता दिखे तो समझिए, वह अपनी खुशी जाहिर कर रहा है।
      • किसी खरगोश द्वारा एक बार में सबसे ज्यादा बच्चे पैदा करने का रिकॉर्ड 24 बच्चों का है। और ये दो बार हुआ है एक बार 1978 में और एक बार 1999 में।
      • खरगोश के कान की लंबाई लगभग 4 इंच तक होती है। लेकिन सबसे लंबे कानों वाला खरगोश, जिसका नाम ‘निप्पर्स गेरिनिमो’ था, के कान की लंबाई 31.1 इंच नापी गई थी जो कि एक वर्ल्ड रिकॉर्ड है।
      • किसी खरगोश द्वारा लंबी छलांग लगाने का रिकॉर्ड 3 मीटर (9 फीट 9.6 इंच) का है। इसे भी डेनमार्क के ही एक खरगोश ‘Yabo’ ने 12 जून 1999 को बनाया था।
      दोस्तों उम्मीद है कि आपको हमारी यह पोस्ट Amazing Facts About Rabbits in Hindi पोस्ट पसंद आयी होगी। अगर आपको हमरी यह पोस्ट पसंद आयी है तो आप इससे अपने Friends के साथ शेयर जरूर करे और हमें Subscribe कर ले। ता जो आपको हमारी Latest पोस्ट के Updates मिलते रहे। दोस्तों अगर आपको हमारी यह साइट FactsCrush.Com पसंद आयी है तो आप इसे bookmark भी कर ले।

      एक टिप्पणी भेजें

      0 टिप्पणियाँ