65+ Facts About Kiwi (Bird) in Hindi

Facts About Kiwi in Hindi - दोस्तों आज हम आपको कीवी पक्षी के बारे में कुछ रोचक तथ्य बताएंगे। कीवी पक्षी न्यूजीलैंड में पाया जाने वाला एक दुर्लभ पक्षी है। यह न्यूजीलैंड का राष्ट्रीय पक्षी भी है। यह पक्षी उन पक्षियों में सबसे छोटा पक्षी है, जो कि उड़ नहीं सकता और यह सिर्फ न्यूजीलैंड में ही पाया जाता है। क्योंकि किसी अन्य स्थान का जलवायु इनके लिए अच्छा नहीं है, इसीलिए यह न्यूजीलैंड के अलावा कहीं ओर नहीं मिलते। तो चलिए अब हम आपको कीवी पक्षी के बारे में कुछ रोचक तथ्य और बातें (Information About Kiwi Bird in Hindi) बताते है।

65 Facts About Kiwi (Bird) in Hindi

कीवी पक्षी के रोचक तथ्य जानकारी - Information About Kiwi Bird in Hindi

  • कीवी का एक दूर का रिश्तेदार भी है जो कि केशोवेरी के नाम से जाना जाता है। इनके पूर्वज एक ही है। जबकि कीवी तथा केशोवेरी ने अलग-अलग रणनीतियां बनाई। जिसके कारण इनका विकास अलग-अलग तरीके से हुआ।
  • कीवी तथा केशोवेरी आज से 5 करोड़ 80 लाख साल पूर्व एक ही पूर्वज थे। इन दोनों में उतनी ही समानताएं है। जितनी इनके परिवार के बाकी सदस्यों में पाई जाती है।
  • जबकि अधिकांश पक्षियों के पास उड़ान के लिए हल्का बनाने के लिए पतली त्वचा और खोखली हड्डियां होती है, कीवी की त्वचा थोड़ी मोटी और कठिन होती है और इसकी हड्डियां भारी होती है और मज्जा से भरी होती है।
  • उसके शरीर के अंदर बड़े अंडे के कारण, मादा कीवी का पेट इतना फैलता है कि यह जमीन को छूता है। अंडे डालने के बाद, इसे फूटने में 2.5 महीने लगते है। महिला हर साल दो से तीन अंडे देती है।
  • कीवी सिर्फ न्यूज़ीलैंड में ही पाया जाता है और ये यहां का राष्ट्रीय पक्षी घोषित है। पूरे देश के निवासियों को विश्व के अन्य भागों में कीवी के नाम से ही बुलाया जाता है।
  • कीवी की आंख सभी एवियन प्रजातियों में शरीर द्रव्यमान का सबसे छोटा सा सापेक्ष है। जिसके परिणामस्वरूप इनका सबसे छोटा दृश्य क्षेत्र भी होता है। आंखों में रात्रिभोज जीवनशैली के लिए छोटी विशेषज्ञता होती है, लेकिन कीवी अपने अन्य इंद्रियों (श्रवण, घर्षण, और सोमैटोसेंसरी सिस्टम) पर अधिक भारी निर्भर करती है।
  • कीवी मांस और पौधों दोनों का उपभोग करता है। यह विभिन्न प्रकार के भोजन खाता है: कीड़े, मकड़ियों, बग, फल, ताजे पानी के क्रेफ़िश, मेंढक और ईल।
  • यह एक गुस्सैला जानवर है और अपने निवास स्थान को बचाने के लिए हर संभव कोशिश करता है।

कीवी पक्षी के बारे में रोचक तथ्य – About Kiwi Bird in Hindi

  • इस पक्षी को कीवी इसलिए कहा जाता है क्योंकि रात को कीवी-कीवी की आवाज़ निकालता रहता है। इस आवाज़ के कारण शुरू में ही लोगों ने इसे कीवी कहना शुरू कर दिया था और फिर इसे इसी नाम से जाना जाने लगा।
  • कीवी सिर्फ एक पक्षी ही नहीं बल्कि एक फल का नाम भी है।
  • इनके सुनने और सूंघने की शक्ति बहुत तेज़ होने के बावजूद इनकी नज़र थोड़ी कमज़ोर होती है। दिन के समय ये महज 2 फुट की दूरी तक देख सकते है और रात को 6 फुट की दूरी तक।
  • कीवी पक्षी की कुल 5 प्रजातियां पाई जाती है। जिनमें से दो को असुरक्षित की श्रेणी में रखा गया है और ये कभी भी खत्म हो सकती है।
  • कीवी पक्षी को सबसे बड़ा ख़तरा जंगलों की लगातार हो रही कटाई और घातक कीटनाशकों के प्रयोग से हुआ है। बाकी नुकसान इन्हें शिकारी पक्षियों के द्वारा भी हुआ है।
  • कीवीयों के संभोग का मौसम जून में शुरू होकर मार्च में खत्म होता है। क्योंकि इस समय के दौरान इनके पास भोजन की अच्छी खासी मात्रा उपलब्ध होती है।
  • नर कीवी डेढ़ साल की उम्र में और मादा कीवी 3 साल की उम्र में संभोग करने लायक हो जाते है।
  • यह पक्षी दुनिया के उन पक्षियों में से जिसके अंडे और शरीर के वजन का अनुपात दुनिया में सबसे ज्यादा है। इनका अंडा मादा के लगभग 15% वजन के बराबर होता है। जबकि शुतरमुर्ग में यह अनुपात सिर्फ 2% होता है।
  • मादा कीवी एक बार में एक ही अंडा दे सकती है और साल में ये दो से तीन अंडे तक दे सकती है।
  • एक साधारण कीवी का वज़न डेढ़ से साढ़े तीन किलो तक होता है।
  • अपने इकलौते अंडे की देखभाल मां तथा बाप दोनों मिलकर के करते है। वह एक-एक करके पत्तियों के ढेर के नीचे कीड़े मकोड़े तथा खाना ढूंढने के लिए जाते है।
  • कीवी लाखों साल से जंगल की जमीन पर रह रही है। 100 साल पहले तक इनकी आबादी लाखों में थी।

न्यूजीलैंड का अनोखा पक्षी कीवी - Kiwi Facts in Hindi

  • स्टुड, कीवी का सबसे बड़ा दुश्मन होता है। स्टुड को यूरोप के लोग यहां पर लाए थे। खरगोशों की आबादी पर पाबंद लगाने के लिए।
  • न्यूजीलैंड में कीवी की कुल 5 प्रजातियां रहती है। लेकिन सावत आयरलैंड के पश्चिमी किनारे पर इसकी सबसे दुर्लभ प्रजाति पाई जाती है।
  • आज कुल मिलाकर 450 कीवी ही बच पाई है। उकरीटो के जंगलों में ही उसकी पूरी आबादी भी पाई जाती है। इन अद्भुत परिंदों का भविष्य अंधकार में है
  • लेकिन इन भुक्कड़ शिकारियों को कीवी सबसे ज्यादा आसान शिकार लगी। हालांकि कीवी के नाखून तथा पैर काफी दमदार होते है। वह बड़ी आसानी से स्टुड को खदेड़ देती है। लेकिन बच्चे व अंडे इस शिकारी से नहीं बच पाते है।
  • जब यह पक्षी अंडा देने लायक होता है तब यह इतना बड़ा होता है कि मां के शरीर में खाने के लिए भी जगह नहीं होती है।
  • ज्यादातर पक्षियों के चूजे जन्म के पश्चात अंधे तथा असहाय ही होते है। जबकि कीवी का बच्चा पूरी तरह से विकसित होता है। तथा वह खुद अपनी हीभाजत कर सकता है।
  • इसकी चोंच एक अंधे आदमी की छड़ी की तरह काम करती है। इसी की बदौलत यह जमीन के ऊपर होने वाले किसी कीड़े मकोड़े या फिर केंचुए की हरकत का अंदाजा लगाते है।
  • कीवी एक अद्वितीय दिखने वाला पक्षी है क्योंकि यह अत्यधिक अलग वातावरण में विकसित हुआ है। यह बहुत पुराना पक्षी है। जो पहली बार 8 मिलियन वर्ष पहले पृथ्वी पर दिखाई दी थी और उस समय से नहीं बदला है। वे जीवित जीवाश्मों की तरह है।
  • कीवी में कोई पूंछ नहीं है लेकिन इसमें बहुत मजबूत, मांसपेशियों के पैर होते है, जो पक्षी के कुल शरीर के वजन का एक तिहाई हिस्सा बनाते है, जिनका उपयोग दौड़ने और लड़ने के लिए किया जाता है।

Information About Kiwi Bird In Hindi

  • कीवी का जीवन जंगल में लगभग 20 से 30 साल और चिड़ियाघर में 40 साल तक होता है।
  • कीवी एक उड़ानहीन पक्षी होता है, एक चिकन के आकार जितना बड़ा। इसकी ऊंचाई 20 इंच और वजन 2.20 पाउंड तक होता है। नर पक्षी की तुलना में मादा पक्षी बड़ी होती है।
  • ये छोटे पक्षी रात्रिभोजी होते है। वे दिन के दौरान जमीन या पुराने लॉग के नीचे बिल में सोते है।
  • इसके पंख केवल 3 सेमी (1 इंच) लंबे होते है और पंखों के नीचे पूरी तरह छुपाए हुए रहते है।
  • अन्य पक्षियों के विपरीत, कीवी का शरीर का तापमान 38 डिग्री सेल्सियस है, जो कि अन्य पक्षियों की तुलना में दो डिग्री कम है और मनुष्यों की तुलना में दो डिग्री अधिक है।
  • भले ही कीवी उड़ नही सकते, लेकिन इनके पंख जरूर होते है। लेकिन ये इतने छोटे होते है कि शरीर के फरों में ही छिप जाते है।
  • अपनी लंबी चोंच की वजह से इन्हें अपने शिकार को पकड़ने में आसानी होती है। यह अक्सर कीड़ों मकौड़ो और फलो को ही ख़ाते है।
  • अन्य पक्षियो के विपरीत, कीवी के शरीर का औसतन तापमान 38 डिग्री सेल्सियस होता है, जो कि बाकी के जानवरों से 2 डिग्री कम और मनुष्यों से 2 डिग्री ज्यादा होता है।
  • यह पक्षी दुनिया के किसी भी चिड़ियाघर में नहीं पाए जाते है क्योंकि न्यूज़ीलैंड के सिवाए किसी और जगह की जलवायु इसके जीवन जीने के लिए अनूकूल नही है।
  • कीवी हमेशा पेड़ो के खोखले तनो या फिर जमीन के अंदर बिल बनाकर रहते है।
  • पहले ये माना जाता था कि कीवी ऑस्ट्रेलिया से न्यूज़ीलैंड आकर बसे है। लेकिन नई खोज़ो से पता चला है कि ये अफ्रीका से नाता रखते है और अफ्रीकी पक्षियो के रिश्तेदार है।
  • अब तक वैज्ञानिक मानते रहे है कि कीवी जैसे ना उड़ने वाले पक्षियो का विकास 13 करोड़ साल पहले हुआ। लेकिन ताजा खोज़ बताती है कि ऐसा 6 करोड़ साल पहले हुआ।
  • यह दुनिया का एकमात्र पक्षी है जिसकी चोंच के अंत में इसकी नासिका है।

Kiwi Facts in Hindi - कीवी पक्षी से जुड़े

  • कीवी ने एक दूसरे की पहचान करने के लिए एक गंध विकसित की। आज वही गंध इनका दुश्मन बन बैठी है। क्योंकि इस गंध को स्टुड पहचान लेते है।
  • कीवी के मां-बाप दिन में अपनी मांद में ही रहते है तथा बारी-बारी से अंडे को सेकते है।
  • कीवी का अंडा मुर्गी के अंडे से करीब 10 गुना बड़ा होता है।
  • बिल्ली के जैसी मूछें से कीवी रास्ते का अंदाजा लगा लेती है। इसी खूबियों की वजह से कीवी रात के समय भी उसी तरह से शिकार कर पाती है जैसे दूसरे पर परिंदे दिन के वक्त करते है।
  • कीवी की तरह ही केशोवेरी के पंख भी काम के नहीं होते है। इसके पैर तथा पन्जे भी काफी दमदार होते है।
  • यह करीब 50 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से भाग सकते है और यही बात इन्हें अपने इतिहास से अलग करती है।
दोस्तों उम्मीद है कि आपको हमारी यह पोस्ट Facts About Kiwi (Bird) in Hindi पोस्ट पसंद आयी होगी। अगर आपको हमरी यह पोस्ट पसंद आयी है तो आप इससे अपने Friends के साथ शेयर जरूर करे और हमें Subscribe कर ले। ता जो आपको हमारी Latest पोस्ट के Updates मिलते रहे। दोस्तों अगर आपको हमारी यह साइट FactsCrush.Com पसंद आयी है तो आप इसे bookmark भी कर ले।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ