80+ Unknown Facts & Information About Ostrich in Hindi

Ostrich Facts in Hindi - दोस्तों आज हम आपको शतुरमुर्ग से जुड़े कुछ रोचक तथ्य और बातें बताएंगे। शतुरमुर्ग अफ्रीका के बहुत दुर्लभ पक्षी है। शुतुरमुर्ग की दुनिया में दो जीवित प्रजातियां है, आम शुतुरमुर्ग और सोमाली शुतुरमुर्ग। वे अफ्रीका के बड़े उड़ानहीन पक्षी है जो किसी भी जीवित भूमि पशु/पक्षी में से सबसे बड़े अंडे देते है। यह 70 किमी/घंटा (43.5 मील प्रति घंटे) चलाने की क्षमता के साथ, भूमि पर सबसे तेज़ पक्षी है। शतुरमुर्ग की दुनिया भर में खेती की जाती है, खासकर पंखों के लिए जैसे सजावट और पंख वाले डस्टर्स के रूप में उपयोग किया जाता है। इसकी त्वचा का उपयोग चमड़े के उत्पादों के लिए भी किया जाता है। तो चलिए अब हम शतुरमुर्ग से जुड़े कुछ रोचक तथ्य और बातें (Facts & Information About Ostrich) बताते है।

Unknown Facts About Ostrich in Hindi

शुतुरमुर्ग के बारे में रोचक तथ्य | Ostrich in Hindi

  • शुतुरमुर्ग इंसानों से प्यार करने के काबिल है।
  • ज़मीन पर पड़े कुछ चमकीले चीज़ शुतुरमुर्ग को आकर्षित करते है। इनकी चोंच से ये इनके साथ, अक्सर खेलते ही रहते है।
  • इनकी अत्यंत नज़र की शकित के कारण, ये रात के समय में भी बहुत ही चौक्कना रह पाते है।
  • बहुत साल पहले, शुतुरमुर्ग के बग्गी हुआ करते थे।
  • इनका शरीर बहुत ही तंदरुस्त होता है। इन्हें बीमारियों का खतरा नहीं रहता है।
  • इंसान के कॉर्नीया को, शुतुरमुर्ग के कॉर्नीया से बदला जा सकता है।
  • शुतुरमुर्ग सर्वाहारी (Omnivores) है। इसका मतलब है कि वे पौधों और मांस दोनों खाते है।
  • हालांकि शुतुरमुर्ग सबसे बड़ी पक्षी है, लेकिन उनके पास बड़े दिमाग नहीं है। यह ज्यादातर इसलिए है क्योंकि उनकी आंखों को समायोजित करने के लिए पर्याप्त जगह नहीं होती है, जो किसी भी land animals (भूमि पशु) और उनके मस्तिष्क की सबसे बड़ी आंख है।
  • जब किसी शुतुरमुर्ग को अपनी तरफ कोई खतरा नज़र आए, तो वो बहुत तेज़ी से दौड़ता है।
  • सर्दी के मौसम में शुतुरमुर्ग अकेले रहना पसंद करते है।
  • शुतुरमुर्ग दुनिया का सबसे तेज थलचर पक्षी है, जो सामान्यतः 45 मील/घंटे की रफ़्तार से दौड़ सकता है। आवश्यकता पड़ने पर वह 60 मील/घंटे की रफ़्तार से दौड़ सकता है।
  • शुतुरमुर्गों के समूह में एक अल्फ़ा नर शुतुरमुर्ग होता है, जो वंश-वृद्धि के लिए समूह की अल्फ़ा मादा शुतुरमुर्ग से संभोग करता है। कभी-कभी नर अल्फ़ा समूह की अन्य मादाओं से भी संभोग करता है।
  • शुतुरमुर्ग 2 वर्ष की उम्र में यौन परिपक्वता प्राप्त कर लेते है। मादा की तुलना में नर शुतुरमुर्ग 6 माह देर से यौन परिपक्वता प्राप्त करते है।
  • शुतुरमुर्ग जीवन भर प्रजनन करने में सक्षम होते है। इनका प्रजनन काल मार्च/अप्रैल से सितंबर के प्रारंभ तक रहता है।
  • सोमालिया (Somalia) में माना जाता है कि शुतुरमुर्ग के सेवन से एड्स (AIDS) और डायबिटीज (Diabetes) ठीक हो जाती है।

Facts About Ostriches Eyes in Hindi

  • अमेरिका के फ्लोरिडा शहर (Florida City) में 19वीं शताब्दी के अंत में शुतुरमुर्ग दौड़ बहुत प्रचलित थी और उसके लिए विशेष मैदान निर्मित किये जाते थे। पर्यटक 50 सेंट का भुगतान कर शुतुरमुर्ग की सवारी किया करते थे। इन दिनों मिनेसोटा (Minnesota) के कैंटरबरी पार्क (Canterbury Park) में एक वार्षिक “एक्सट्रीम रेस डे” का आयोजन किया जाता है, जहाँ लोग ऊँटों और ज़ेब्रा के साथ शुतुरमुर्गों की दौड़ करवाते है।
  • प्राचीन मिश्र (Ancient Egypt) में शुतुरमुर्ग सकारात्मकतता का प्रतीक माना जाता था। एक कलाकृति में देवता शू (Deity Shu) को शुतुरमुर्ग के पंखों को पहने हुए और न्याय की देवी माट (Goddess Ma’at) को उसका सिर पहने हुए दिखाया गया है।
  • शुतुरमुर्ग अपने पंखों का इस्तेमाल दौड़ते समय संतुलन बनाने में करता है। इसके अलावा मादा शुतुरमुर्ग को रिझाने के लिए किये जाने वाले नृत्य और चूजों को धूप से बचाने में पंखों का इस्तेमाल शुतुरमुर्ग द्वारा किया जाता है।
  • शुतुरमुर्ग को पानी पीने की ज़रूरत नहीं होती क्योंकि वे अपने द्वारा खाए गए पौधों से पानी प्राप्त कर लेते है। हालांकि जब भी उन्हें पानी का श्रोत मिलता है, वे पानी पी लेते है।
  • जंगल में शुतुरमुर्ग औसतन 40 से 45 वर्ष तक जीवित रहते है, लेकिन चिड़ियाघर या देखरेख में वे 70 वर्ष की आयु तक जीवित रह सकते है।
  • शुतुरमुर्ग के बारे में कहा जाता है कि खतरा देखकर वे अपना सिर रेत/जमीन में गड़ा लेते है, जो पूरी तरह से गलत है। ऐसा करने पर वे सांस नहीं पाएंगे और उनकी मौत हो जायेगी। शुतुरमुर्ग अंडे देने के लिए जमीन की मिट्टी खोदकर घोंसला बनाते है। अक्सर अंडों को पलटने के लिए वे घोंसले में अपना सिर डालते है, जो ऐसा दिखता है मानो वे अपना सिर रेत/जमीन में गड़ा रहे है। जब शुतुरमुर्ग खतरा महसूस करने पर भी भाग नहीं पाते, तो अपना सिर और गर्दन जमीन के समानान्तर कर लेट जाते है। सिर और गर्दन का हल्का रंग रेत/जमीन के रंग से मिल जाने के कारण ऐसा प्रतीत होता है कि उन्होंने अपना सिर रेत/जमीन में गड़ा लिया है।

Information About Ostrich in Hindi

  • शुतुरमुर्ग के अंडे को soft boil करने में 1 घंटा और hard-boil करने में 1.5 घंटे का समय लगता है।
  • शुतुरमुर्ग के आहार में मुख्य रूप से छोटे पेड़-पौधे, बीज, फल-फूल शामिल है, लेकिन वे कभी-कभी सांप, छिपकली, कीड़ों और यहाँ तक कि कृन्तकों (rodents) को भी अपना आहार बना लेते है।
  • भोजन को पचाने के लिए शुतुरमुर्ग कंकड़ और रेत खाते है। वे अपने पेट में लगभग 1 किलो ककड़/रेत लेकर चलते है, जो उनके लिए दांतों का विकल्प है। वे भोजन को साबुत निगल जाते है। ऐसे में कंकड़/रेत भोजन को बेहतर ढंग से तोड़ने और पीसने में मदद करते है।
  • जंगली शुतुरमुर्ग अफ्रीका के वुडलैंड्स और सवाना क्षेत्रों में पाए जाते है। पहले वे एशिया, अफ्रीका और अरब प्रायद्वीप में भी पाए जाते है, लेकिन अत्यधिक शिकार के कारण उनकी संख्या घटती चली गई। हालांकि सभी महाद्वीपों के चिड़ियाघरों में शुतुरमुर्ग पाए जाते है।
  • 320 पाउंड वजन और 9 फीट तक की ऊँचाई के साथ शुतुरमुर्ग दुनिया का सबसे भारी और सबसे ऊँचा पक्षी है। दुनिया का दूसरा सबसे ऊँचा पक्षी एमू (emu) है, जो 6.2 फीट तक ऊँचा होता है। दुनिया का दूसरा सबसे भारी पक्षी कैसोवरी (cassowary) है, जिसका वजन लगभग 200 पाउंड तक होता है।
  • मादा शुतुरमुर्ग साल भर में 40-100 अंडे दे सकती है। साल भर में वे औसतन 60 अंडे देती है।
  • सभी मादा शुतुरमुर्ग एक सामुदायिक घोंसले में अंडे देती है, जिसे Dump nest कहा जाता है। Dump nest 30 से 60 सेमी गहरा और 3 मीटर चौड़ा होता है, जिसे नर शुतुरमुर्ग जमीन की मिट्टी खोद कर बनाता है। यह घोंसला एक बार में लगभग 60 अंडों का वजन संभाल सकता है।
  • अंडों को सेने की जिम्मेदारी नर और मादा शुतुरमुर्ग दोनों निभाते है। नर रात के समय अंडों को सेते है और मादा दिन के समय अंडों को सेती है।
  • शुतुरमुर्ग के अंडों से चूजे निकलने में 42-46 दिन का समय लगता है।
  • इसके अलावा, वे 5-50 के झुंड में रहते है, और खाने की खोज, ज़ीब्रा जैसे जानवर के साथ मिलकर करते है।
  • शुतुरमुर्ग के मांस को कई देश में खाया जाता है, और इनकी चमडी को भी अन्य चीज़ें बनाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।

Facts About Ostriches Habitats

  • इनसे जुड़ी कई सारे सांस्कृतिक प्रथा है।
  • जंगली शुतुरमुर्ग की संख्या, पिछले दो सौ साल में बहुत ही कम हो गयी है।
  • शुतुरमुर्ग के दाँत नहीं होते है। अपने खाने को खाने लिए, वे पत्थर गिट जाते है।
  • इन्हें मारने के बावजूद भी, इस पक्षी को विलुप्त होने का डर या खतरा नहीं है। पूरे दुनिय में कम से कम दो मिलियन शुतुरमुर्ग पाए जाते है।
  • शुतुरमुर्ग में पसीने की ग्रंथियां (sweat glands) नहीं होती है।
  • शुतुरमुर्ग के गले में अन्य थलचर पक्षियों की तरह भोजन संचय की थैली (क्रॉप) और पित्ताशय (Gall Bladder) नहीं होता।
  • अधिकांश पक्षियों के प्रत्येक पैर पर तीन से चार उँगलियाँ होती है। लेकिन शुतुरमुर्ग इस मायने में विशिष्ट होते है, जिनके पैरों में केवल दो उंगलियाँ होती है। कम उँगलियाँ का होना शुतुरमुर्ग को तेज दौड़ने में सहायता करता है।
  • शुतुरमुर्ग (Ostrich) के अंदर की उंगली में नाखून होते है, जो खुर के समान मजबूत होते है। बाहरी उंगली में नाखून नहीं होते। शुतुरमुर्ग अपने पैरों का इस्तेमाल स्वयं की रक्षा के हथियार के तौर पर भी करते है। शुतुरमुर्ग के पैर का एक ज़ोरदार वार शेर को भी मार गिरा सकता है।
  • नर शुतुरमुर्ग को ‘rooster’ कहा जाता है और मादा शुतुरमुर्ग को ‘hen’ कहा जाता है।
  • पक्षी होने के बावजूद शुतुरमुर्ग उड़ नहीं सकता। ऐसा उसके शरीर के अत्यधिक वजन के कारण है। उसके पंख भी बहुत छोटे होते है, जिनका फैलाव लगभग 2 मीटर तक होता है।
  • नर शुतुरमुर्ग के पंख काले रंग के और पूंछ सफ़ेद रंग की होती है। मादा पंख शुतुरमुर्ग के पंख स्लेटी-भूरे रंग के होते है।

Facts About Ostrich in Hindi

  • शुतुरमुर्गों के समूह को ‘flock’ कहा जाता है। एक ‘flock’ में 10 से लेकर 100 तक सदस्य हो सकते है। सामान्यतः वे 10 के समूह में रहते है।
  • संभोग के लिए तैयार होने पर नर शुतुरमुर्ग के चोंच और पैर का रंग लाल/गुलाबी हो जाता है, वहीं मादा शुतुरमुर्ग के पंखों का रंग चाँदी के रंग का हो जाता है।
  • शुतुरमुर्ग का अंडा दुनिया का सबसे बड़ा अंडा होता है, जिसका व्यास 6 इंच और भार 3 पौण्ड होता है। लेकिन दिलचस्प बात यह है कि शरीर के आकार की तुलना में शुतुरमुर्ग का अंडा दुनिया का सबसे छोटा अंडा भी होता है।
  • शुतुरमुर्ग के अंडे की shell की मोटाई 2 mm होती है, जो किसी भी अंडे का सबसे मजबूत shell है।
  • शुतुरमुर्ग का अंडा vertically 220 Kg और horizontally 120 Kg वहन कर सकता है। इसका अर्थ यह है कि आप इस पर खड़े भी हो जायें, तो ये नहीं टूटेगा।
  • शुतुरमुर्ग के अंडे में 2000 कैलोरी होती है, जो एक व्यस्क महिला की दैनिक कैलोरी आवश्यकता के बराबर है।
  • शुतुरमुर्ग का एक अंडा 24 मुर्गी के अंडे के बराबर होता है।
  • दुनिया भर के 50 से ज्यादा देशों में शुतुरमुर्ग पालन (Ostrich Farming) व्यवसाय के रूप में प्रचलित है। शुतुरमुर्ग पालन मुख्य रूप से मांस, अंडों, चमड़ी और पंखों के लिए किया जाता है।
  • शुतुरमुर्ग की चमड़ी से बेस्ट क्वालिटी लेदर बनता है और पंखों का इस्तेमाल फैशन और डेकोर इंडस्ट्रीज में किया जाता है।
  • शुतुरमुर्ग की चर्बी से लगभग 6 लीटर तेल निकलता है, जिसमें omega-3, omega-6 सहित 9 fatty acid पाए जाते है, जो बालों, त्वचा, ह्रदय और नाखूनों के लिए अत्यंत लाभकारी होते है।
  • 18वीं शताब्दी में उत्तरी अफ्रीका (North Africa) में महिलाओं के फैशन में शुतुरमुर्ग के पंख इतने लोकप्रिय थे कि पूरे उत्तरी अफ्रीका से शुतुरमुर्ग लगभग लुप्त हो गये थे। 1838 में प्रारंभ हुए शुतुरमुर्ग पालन से यह पक्षी पूर्णतः लुप्त होने से बच सका।
  • शुतुरमुर्ग का मुख्य शिकारी मानव है, जो पंखों, चमड़ी और मांस के लिए शुतुरमुर्ग का शिकार करते है। इसके अलावा शेर, चीता, लकड़बग्घा और मगरमच्छ भी शुतुरमुर्ग का शिकार करते है।
  • अत्यधिक शिकार के कारण दुनिया भर में शुतुरमुर्ग (Ostrich) की संख्या घट रही है। वर्तमान में दुनिया में लगभग 1,50,000 जंगली शुतुरमुर्ग ही शेष रह गये है।
  • शुतुरमुर्ग की किसी भी भूमि स्तनपायी (Land Mammals) में से सबसे बड़ी आंखें होती है – लगभग 5 सेमी – और eyelids (पलकें) के तीन सेट। उनकी आंखों का आकार उन्हें आसानी से बहुत दूरी से शेरों जैसे शिकारी को देखने में मदद करता है।
  • वे गर्म खून वाले (warm-blooded) पक्षी है। गर्म-खून का मतलब है कि शुतुरमुर्ग अपने आंतरिक शरीर के तापमान को नियंत्रित करने में सक्षम है। कोई फर्क नहीं पड़ता कि उनके पर्यावरण का तापमान क्या है, एक शुतुरमुर्ग हमेशा एक ही तापमान पर होगा।
  • लोगों को ये पक्षी बहुत ही पसंद आता है, और इसे देखने के लिए लोग ज़ू और नैशनल पार्क जाते है।
  • ये इस पृथ्वी पर पाए गए सबसे पुराने पक्षी है। लगभग 120 मिलियन सालों से ये यहाँ रह रहे है।
  • जिस तरह से लोग घोड़ों की सवारी करते है, लोग शुतुरमुर्ग की भी सवारी करते है।
दोस्तों उम्मीद है कि आपको हमारी यह पोस्ट Unknown Facts & Information About Ostrich in Hindi पोस्ट पसंद आयी होगी। अगर आपको हमरी यह पोस्ट पसंद आयी है तो आप इससे अपने Friends के साथ शेयर जरूर करे और हमें Subscribe कर ले। ता जो आपको हमारी Latest पोस्ट के Updates मिलते रहे। दोस्तों अगर आपको हमारी यह साइट FactsCrush.Com पसंद आयी है तो आप इसे bookmark भी कर ले।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ